दोस्त की गर्लफ्रैंड का सील तोड़ा – Part 2

Antarvasnax Group Sex Story – सभी सेक्स की हिन्दी मज़ेदार कहानिया पढ़ने वालों को इस मुकेश का नमस्कार है। मैं अपनी कहानी का दूसरा अध्याय लिख रहा हूँ। तो जो लोग मेरी ये कहानी पढ़ रहे वो पहले मेरी कहानी का पहला अध्याय पढ़ तब आपको ये कहानी पढ़ के समझ आएगा। पढ़ने के बाद आपको जरूर मज़ा आने वाला है।

तो जैसा कि मैंने अपने कहानी के पहले अध्याय में बताया की कैसे मेरे दोस्त में मुझे बुला के अपनी परेशानी बताया और मैं उसकी मदद करने के लिए तैयार हो गया। तो अब मैं कहानी पे आगे बढ़ता हूँ।

तो मैंने अब उसकी गर्लफ्रैंड की चूत में लण्ड डाल दिया। लण्ड थोड़ा ही से अंदर गया कि वो चटपट करने लगी। उसकी आँखें बड़ी बड़ी हो गयी थी। मेरा दोस्त उसके मुह को बंद किये हुए था साथ मे हाथ पकड़ा हुआ था। मैं उसकी टांगो को दबा के उसके चूत में लण्ड पेल रहा था। मैंने अब अपना लण्ड उसकी चूत में पूरा घुसा दिया था। उसके आँखों से आंसू गिर रहे थे। लेकिन मैंने उसके ऊपर ध्यन नही दिया।

मैं उसे जोर के 2-3झटके मार और उसकि सील टूट गयी। उसका सरीर एकदम से टाइट हो गया जैसे उसकी चूत में कोई चाकू घुसा दिया हो। मेरे लण्ड के ऊपर खून लग गया था उसकी चूत से भी खून बहार आ रहा था। मेरा दोस्त ये देख के घबरा गया । मैंने उससे बोला कोई दिक्कत की बात नही है पहली चुदाई में सील टूटने के बाद खून बहार आता ही है। लेकिन अभी भी उसकी चूत टाइट ही थी। मेरा लण्ड अंदर था और वो दब रहा था।

उसकी चूत तो आग की भट्टी की तरह गर्म हो चुकी थी। मेरे लण्ड की चमड़ी कीची जा रही थी। लेकिन मैंने भी सोच लिया था कि आज तो इसकी चूत चोद के इसका चुदाई का भूत उतार देना है। मैं अब उनकी तांग को पकड़ के उसे चोदना सुरु कर दिया। मेरे हर एक धके से वो तड़प उठती थी। मुझे लेकिन इतने दिनों के सील पैक माल चोद के बहोत मजा आया था।

मैं अब धीरे धीरे अपनी रफ्तार बढ़ाना सुरु किया। मैंने उसकी टांग को ऊपर उठा दिया और लगा पूरे जोश के साथ चोदने। काफी जोश के साथ उसकी चुदाई कर रहा था। अब मेरा दोस्त उसकी मुह को छोड़ दिया था और वो आआह आआह कर रही थी। वो अपने बॉयफ्रैंड को बोल रही थी बहोत दर्द हो रहा बोलो न इसे धीरे करे। लेकिन मैं सुनने वाला नही था और अपने मूड में चोद रहा था।

लागतार उसकी 15 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैं झरने वाला था। तो मैने लण्ड बहार निकाल के उसकी नाभि में अपने वीर्ये को झार दिया। तबतक वो 2 बार झर चुकी थी, जब मैं अपना लण्ड बाहर निकाल तो उसको कुछ सुकून मिला। अब मेरा दोस्त बोला कि भाई अब मैं इसकी चुदाई कर सकता हूँ। मैंने बोला हा कर सकता हो, वो बहोत ख़ुशी से उसके ऊपर चढ़ गया।

मैं तो ये सोच रहा था कि अभी मैंने इसकी इतनी जबरदस्त चुदाई की है। अब ये लगे हाथ चोदने को तैयार है। बेचारी का आज हाल खराब होने वाला है। अब मैं उसकी चुचियो को दबाने और चुसने लगा और मेरे दोस्त ने लण्ड अंदर डालने की कोशिश करने लगा। अब तो उसकी चूत ढीली हो चुकी थी। तो उसका लण्ड थोड़ा दम लगाने के बाद लण्ड अंदर चल गया।

उसके लण्ड के अंदर जाते ही उसकी गर्लफ्रैंड का मुह दुबारा खुल गया। मैंने अब उसकी दर्द कम करने के लिए उसे चुम लिया। अब मेरा दोस्त धीरे धीरे उसकी चुदाई कर रहा था और मैं उसकि चुचियो को दबा के उसे किस किया जा रहा था। उसे ज्यादा दर्द नही हो रहा था क्योंकि मेरा दोस्त बरे आराम से सेक्स कर रहा था। मेरा दोस्त 5 मिनट ही उसे चोदा की उसकी चूत के अंदर ही झर गया।

उससे कंट्रोल नही वो उसकी चूत में झर चुका था। मैंने बोला ये क्या किया इसकी इसकी चूत के अंदर ही झर गया। वो थोड़ा डर से गया मैंने बोला डरो नही मैं इसे दवा दे दुंगा। तबतक मेरा लण्ड खड़ा हो गया अब मैं उसकी चुदाई करने को तैयार था। वो बोली थोड़े देर रहने दो मेरी चूत बहोत जलन हो रही हैं। मैंने भी थोड़ा रहम किया और थोड़ा देर रुक गया।

तबतक मैं और मेरा दोस्त उसके जिस्म के साथ खेल रहे थे। कुछ देर बाद देखा कि वो फिर से जोश में आ गयी थी। अब मैं से घुमा के पिछे से उसकी चुदाई करना सुरु कर दिया था। तभी मेरा दोस्त बोला कि भाई अब मुझे करने दे। अब उसकी गर्लफ्रैंड थी तो उसको मना तो नही कर सकता था। तब मेरे मन मे ख्याल आया की जब इतना दर्द ये आज सह ली तो थोड़ा और भी, मैंने उसकी गांड मारने की सोच ली थी।

मैंने उसे बोला तुम इसकी नीचे से चुदाई करो उसको नीचे से उसको लण्ड डाल के पेलना सुरु कर दिया था। वो उसके लण्ड पे बैठ के चुद रही थी। तभी मैंने उसकी गांड को पकड़ लिया और लण्ड को अंदर डालने लगा। वो जबतक मुझे रोक पाती मैं उसके गांड में लण्ड पेल चुका था। वो दर्द के मारे चीख दी थी। मैं जोरदार 2-4 झटके मारे वो बस जोर आआह आआह कर रही थी। इधर मेरा दोस्त जोश में निचे से उसकी चुदाई कर रहा था।

वो अब कुछ नही कर सकती थी। ऐसा करते हुए हम दोनों मिल के उसके चूत और गांड की बैंड बाजा चुके थे। वो तो दर्द से कराह रही थी। वो तो बस ऊऊह आआह कर रही थी। बोली साले तुम दोनों ने मिल के मेरी चूत मारते मारते मेरी गांड मार ली है। वो बोली हए मेरी कमर तोड़ दी तुमने आज के बाद कभी सेक्स का नाम नही लुंगी। उसके बाद हम सब कपड़ा पहन लिए उसकी गर्लफ्रैंड को तो चलने में नही हो रहा था।

मेरे दोस्त ने उसे घर पाउच दिया। वो चुदाई मेरे लिए बहोत खास चुदाई थी। आज तक मैं बहोत सारी लड़की और भाभी को चोद चुका हूँ लेकिन कभी वैसी चुदाई दुबारा नही मिली।

New Antarvasnax Sex Story In Hindi

Leave a Comment