गर्लफ्रैंड की बड़ी बहन को प्रेग्नेंट किया

Antarvasnax Sex Story – नमस्ते मित्रो मेरा नाम पंकज है। मेरी उम्र अभी 21 साल है। मैं अभी पढ़ाई पूरी कर रहा हूँ। मैं दिल्ली में रह रहा हूँ। आज मैं एक सेक्स की कहानी लिख रहा हूँ जिसमे मैंने गर्लफ्रैंड की बड़ी बहन को चोद के प्रेग्नेंट किया।

ये कहानी 1 साल पहले की है। मेरी एक गर्लफ्रैंड है सुनीता, हम दोनों के बीच बहोत प्यार है। हम दोनों अक्सर सेक्स करते रहते थे। मैं दिल्ली में अपना रूम लेके रहता था जो जब भी मेरा मन करता सुनीता कॉलेज छोड़ के मेरे रूम आ जाती थी। मैं सुनीता के साथ 100 से ज्यादा बार सेक्स कर चुका हूँ। उसकी चूत तो अब एकदम ढीली हो गयी थी।

एक दिन सुनीता की बड़ी बहन अपने मायके आयी। इस बारे में सुनीता ने बोला कि उसकी दीदी आयी हुई है। उन्हें सबकुछ पता था हमारे बारे में यहाँ तक कि हमारे सेक्स के बारे में भी पता था। एक दिन सुनीता मेरे रूम पे थी सेक्स के बाद हम बात कर रहे थे। बातो बातो में उसने कह दिया कि उसकी बहन की सादी को 2 साल हो गए लेकिन बच्चा नही हो रहा। मैंने भी मज़क में कह दिया कि नही हो रहा तो बोलो मैं कर दु क्या, उसने भी मेरी बात को मज़ाक में लेके टाल दिया।

एक सफ्ताह के बाद सुनीता मेरे रूम पे फिर से आई वो मुझसे बोली उस दिन जो बात तुम मेरी दीदी के बारे में बोले थे क्या वो तुम कर सकते हो। मैं समझा नही तो वो बोली कि मेरी जीजा जी दीदी को बच्चा नही दे सकते है क्या तुम ये कर सकते हो। मैं तो उसकी बात सुन के बहोत चौक गया। वो बोली डॉक्टर ने बोला है टेस्टट्यूब बेबी करने को लेकिन मेरी दीदी उससे डरती है।

पंकज तुम मेरी दीदी के साथ एक रात बिता लो उन्हें पेट से कर दो। मुझे तो विस्वास नही हो रहा था कि मेरी गर्लफ्रैंड अपनी बड़ी बहन के साथ सेक्स करने को कह रही है। वो बोली कि मुझे तुमसे विस्वासी कोई नही है और ये बात सिर्फ मुझे तुम्हे और दीदी को पता होगी। मैंने भी हा कह दिया कि अगर ऐसी बात है तो सिर्फ तुम्हरे लिए मैं ये करने को तैयार हूँ। वो खुस हो गयी और बोली तो कब लेके आ जाओ।

मैंने उसे रविवार के दिन बोला कि दीदी को लेके रूम पे आ जाना। क्योंकि उस दिन तो मैंने और सुनीता ने सेक्स किया था तो सोचा अब बच्चा पैदा करने की बात है तो हिम्मत ज्यादा चाहिए होगी। इसलिए मैंने दो दिन बाद का दिन बोला था। मैंने भी सोचा एक चूत चोद चोद के मन भर गया है नई चूत मिलेगी। वो भी सादी सुदा है और तो बिना किसी डर के चोदना है। यानी कि बच्चा हो जाने के डर नही था। हालांकि ये मेरे लिए भी परीक्षा थी कि मैं बाप बन सकता हु ए नही।

तो अब रविवार का दिन आ गया था मैंने सुबह हल्का नास्ता किया और 2 रेड बुल पी लिया। आज मुझे असली एनर्जी दिखना था। मैंने भी सोच लिया था कि आज ऐसी चुदाई करूँगा की वो अपने पति को भूल जयेगी। थोरे ही देर में सुनीता अपनी दीदी के साथ आयी। उसकी दीदी तो सुनीता से भी ज्यादा सुन्दर थी। वो हल्के हरे रंग के सूट में आई थी। मेरा तो उन्हें देख के ही लण्ड कड़ा हो गया था। अब बस उन्हें चोदने को दिल करने लगा।

मेरी गर्लफ्रैंड बोली कि मैं जाती हूँ काम पूरा कर देना मेरी दीदी तुम्हरे हवाले है। बस थोड़ा आराम से करना जानवर मन जाना। सुनीता तो चली गयी मैंने उसकी दीदी को रूम में बिताया उनका नाम अनामिका था। अब मैं सोच रहा था कि मैं सुरु करू की वो करेगी। तभी उन्होंने बोला कि मैं कपरे उतार दु क्या, मैं बोला आप बस लेट जाओ। वो बेड पे लेट गयी मैं भी उनके बगल में लेट गया। वो सईद थोड़ा सरमा भी रही थी।

मैंने उन्हें किस किया और वो भी मेरा साथ दे रही थी। उनकी चुचिया तो बहोत टाइट थी सूट के ऊपर से दब भी नही रही थी। मैंने कहा कि आप ऐसा करो कि कपरे खोल दो। वो अपने कपरे उतारने लगी और मैं अपना 1 मिनट में दोनो पूरे नंगे हो गए थे। मैं अब उनको किश करना लगा था वो भी मिरर साथ किस में साथ दे रही थी। मैं साथ मे उनकी चुचिया भी दबा रहा था। वो मेरा लण्ड पकर के सहला रही थी।

वो मुझे चूमते हुई नीचे गयी और मेरे लण्ड मुह में ले ली। ये अंदाज मुझे बहोत पसन्द आया क्योंकि सुनीता से लण्ड जबर्दस्ती चुस्वना पड़ता था। वो बरे प्यार से लण्ड को पूरा पूरा मुह में ले रही थी। वो तो मेरे आड़ को भी चूस ले रही थी। उनका लण्ड चुसने का तरीका गजब का था। अब मैंने भी उन्हें उल्टा कर के उनकी चूत चाटना सुरु कर दिया। वो बोली आज तक उसके पति ने कभी उसका चूत नही चटा था।

वो तो एकदम मदहोश होती जा थी तबतक उनकी चूत गीली हो चूकी अब मैं भी जड़ने वाला था मैंने लण्ड बाहर निकाल के झर गया। मैं उनकी मुह में नही झरा क्योंकि मुझे पता है किसी लड़की या औंरत को मुह में झरने पे अच्छा नही लगता था। मैं उनका मूड खराब नही करना चाहता था।

हम दोनों के बीच कुछ देर प्यार होता था और कुछ ही देर में मेरा लण्ड चोदने को तैयार हो गया था। मैंने भी देर नही की अब मैं उनके ऊपर आ गया और उनकी चूत में लण्ड धकेल दिया। सुनीता की चूत से ज्यादा टाइट अनामिका की चूत निकली। उसे थोड़ा दर्द भी हुआ था। अब मैं अपना जोश दिखा रहा था। ऐसे जोर जोर के धके दे रहा था कि उनका सरीर पूरा हिल जा रहा था।

वो बरे प्यार से मेरे लण्ड का लुफ्त ले रही थी। एक झटके से वो मेरे ऊपर हो गयी मैं नीचे हो गया। अब वो अपनी जोर से लण्ड को चूत में रही थी। मुझे तो ऐसा लग रहा था जैसे मैं अपनी बीवी को चोद रहा हूँ। आज चो के प्रेग्नेंट कर देना है। वो हाँफने लगी थी तो मैंने उन्हें लेता के चोदना लगा वो झर गयी और उन्ही के साथ मैंने भी उनकी चूत में माल गिरा दिया था।

वो बोली तुम बहोत अछी चुदाई करते हो। उसके बाद मैंने शाम तक उनकी चुदाई करता रहा हर बार मैं उनकी चूत में झर जाता था। ऐसा मज़ा मेरी गर्लफ्रैंड ने कभी नही दिया था। उस दिन के कुछ दिन बाद ही पता चला कि वो प्रेग्नेंट हो गयी है। यानी कि मैं बाप बनने वाला था। उनको अब एक बेटा है और वो अब जब भी मायके आती है तो मुझसे चुदने के लिए जरूर आती है।

New Antarvasnax Sex Story In Hindi

Leave a Comment