आंटी के साथ चुदाई (Part-2) Group Sex Story

हेल्लो दोस्तो कैसे है आप लोग, तो दोस्तो मेरी पहली कहानी आंटी की चुदाई आप सबको कैसा लगा। मै विक्की आज आप सबको आज फिर से अपनी सेक्स की कहनी बताने वाला हु। जिसमे मैंने पहली बार थ्रीसम किया। इस स्टोरी में मैं अपनी गर्लफ्रैंड और बगल वाली के साथ सेक्स के बारे में बताऊंगा।

तो दोस्तो आपका टाइम बर्बाद न करते हुए सीधा स्टोरी पे आते है।। और जिन लोगो ने आंटी की चुदाई पार्ट 1 नही पढ़ी तो वो पढ़ ले पहले, क्योंकि उस स्टोरी के बाद इस स्टोरी को पढ़ने में ज्यादा मज़ा आने वाला है।

अब मुझे तो आंटी और भाभियो में ज्यादा इंटरेस्ट है।तो आज मेरी गर्लफ्रैंड भी मेरे ग्रह आने वाली थी सेक्स करने के लिए और मुझे आंटी के साथ भी करना था।। क्योंकि कल की चुदाई से मेरा मन नही भरा था। इसलिये मैंने एक प्लान बनाया क्यों न दोनो को साथ मे चोदा जये ।

सबसे पहले मैंने अपनी गर्लफ्रैंड को कॉल किया और पूछा तुम आ रही हो न वो बोली हा 10बजे तक मैं पाउच जाऊंगी। फिर मैंने आंटी को कॉल किया और बोला आंटी आज मेरी गर्लफ्रैंड भी आ रही है घर मेरे साथ सेक्स करने। आंटी बोली मैं कुछ नही जानती मुझे तुम्हरे साथ सेक्स करना है। यह कहानी आप Bhabikichudayi.online – Hindi Sex Story पर पढ़ रहा है

मैं बोला एक उपाय है वो बोली क्या, क्यो न हम थ्रीसम का प्लान बनाये। आंटी बोली क्या तुम्हरी गर्लफ्रैंड मान जयेगी। मैंने पूछा आपको कोई दिक्कत नही न। आंटी बोली मैं तो हमेसा से सेक्स में नए नए एक्सपीरियंस के लिए तैयार रहती हूं। बस तुम अपनी गर्लफ्रैंड को मना लेना।

मै बोला उसके लिए हमे कुछ नाटक करना होगा। वो बोली क्या मैंने उन्हें पूरा प्लान बताया कैसे कैसे कब क्या करना है( वो प्लान अब स्टोरी में समाज जाओगे)। और फिर मैं बाहर गया वहाँ एक रेडबुल खरीद लिया और मैनफोर्स की दवा ले ली। क्योंकि आज मुझे दोदो के साथ सेक्स करना था।

इसलिए ज्यादा एनर्जी और ताकत की जरूरत थी। मैंने रेडबुल के साथ दवा भी कहा ली और अपनी गर्लफ्रैंड आने का इंतज़र करने लगा।

मैं अपने गर्लफ्रैंड के बारे में आपको बता दु। उसका नाम अंजलि है वो मेरे हि साथ कॉलेज में पढ़ती है। उसकी उम्र भी 19 साल, वो दिखने में एवरेज गर्ल की तरह है लेकिन उकसा फिगर बहोत सेक्सी है। उसके छोटे छोटे संतरे जैसे चूची पतली कमर और उभरी हुई गण्ड,गजब लगती है।

कॉलेज के बहोत लड़के उसके पीछे लाटू है लेकिन बाजी मैंने मारी हुई है। हमने आज तक कई बार सेक्स किया है। कुछ देर बाद मेरे घर की बेल बजी मै समझ गया कि अंजलि आ गयी है। मैंने जाके गेट खोला देखा वो वाइट टीशर्ट और ब्लैक जीन्स में थी। वो बहोत सेक्सी लग रही थी। यह कहानी आप Bhabikichudayi.online – Hindi Sex Story पर पढ़ रहा है

उसे अंदर बुला लिया और कहा तुम अंदर बैठो मै गेट बंद कर के आता हूं। उसके बाद मैंने जान बूझ के गेट को ऐसे लगया की बहार से भी खोला जा सके। जोकि मैंने आंटी को बता रखा था।

उसके बाद मैं अंजलि को बेड पे लिटा दिया और उसके साथ रोमांस करने लगा। मैं उकसे ऊपर लेट गया और उसके साथ किश करने लगा, अंजलि भी आज पूरे मूड में लग रही थी। क्योंकि हम बहोत दिनों के बाद सेक्स करने वाले थे।

वो धीरे धीरे गर्म होने लगी थी उसके बाद मैंने उसका टीशर्ट उतार दिया और उसने भी मेरा टीशर्ट खोल दिया। मैं उसके पूरे बदन को चूमने लगा वो मदहोश होने लगी थी, मैंने उसका ब्रा भी खोल दिया। और उसकी चुचियो को दबाने लगा और साथ मे चूसने लगा।

ये सब करते हुए हमें 15 मिनट हो चुके थे। मैंने आंटी को बोल रखा था आप 15 मिनट के बाद अपने घर मे आ जाना। प्लान के मुताबिक आंटी चुपके गेट खोल अंदर आ गयी। उस वक़्त मैं अंजलि के बूबस के साथ खेल रहा था। आंटी अचानक से आई और बोली विक्की ये क्या कर रहे हो ये लड़की को है। अंजलि दर गयी और मेरे पीछे चिप गयी और धीरे से बोली ये कैसे अंदर आ गयी।

मैंने नाटक करते हुए कहा कि आंटी ये अंजलि है मेरी गर्लफ्रैंड वो आंटी घर पे कोई नही था मेरा मन नही लग रहा तो मैंने इसे टाइम स्पेंड करने के लिए बुला लिया। आंटी बोली वो सब तो मैं समझ रही हूँ , तुम दोनों के देख लग रहा तुम दोनों सेक्स करने की तयारी में लग रहे हो। मैंने कहा आंटी प्लीज आप मम्मी को नही बताना। हमसे गलती हो गयी मैं इसे अभी भेज दूंगा। यह कहानी आप Bhabikichudayi.online – Hindi Sex Story पर पढ़ रहा है

आंटी कहने लगी नही तुम रुको अभी मैं तुम्हरे मम्मी को फ़ोन करती हूं। मैं आंटी से माफी मांगने लगा और कहा आप जो बोलोगी करूँगा प्लीज आप आप मम्मी को कुछ नही बताओ। आंटी बोली मै एक शर्त पे नही बताऊंगी, मै बोला वो क्या तो आंटी ने कहा तुम दोनों को मेरे सामने सेक्स करना होगा।

अंजलि ने चुपके से बोला ये क्या कह रही है ये, मैं बोला आंटी मैं आपके सामने कैसे सेक्स कर सकता हूँ। तो आंटी बोली सेक्स करने में कोई बुरी बात नही मैंने भी अपनी जवानी में खूब सेक्स किया है। तुम दोनों को देख मुझे अपने दिन याद आ जयेंगे। वो बोली शर्त मंजूर है तो बोलो नही तो मैं कॉल करती हूं।मैं कहा नही आंटी रुको, फिर वो बोली तुम टेंशन न लो ये बात हमारे बीच रहेगी किसी को कुछ पता नही चलेगा। फिर मैंने अंजलि से कहा लगता है हमे ये करना होगा नही तो आंटी मम्मी को बोल देगी और हम बहोत प्रॉब्लम में पर जयेंगे। अंजलि मना करने लगई बोली नही मैं किसी के समान कैसे कर सकती हूं।

पहले तो अंजलि न न कर रही थी लेकिन बाद में मान गई। और मेरा प्लान सफल हो गया। फिर मैंने अंजलि को बेड पे लिटा दिया और आंटी भी बगल में लेट गयी। मैं अंजलि के ऊपर जेक उसे किश करने लगा और साथ मे उसकी बूबस को भी मसलने लगा। उसके बाद आंटी बोली अंजलि को की तुम इसका लण्ड चुसो। यह कहानी आप Bhabikichudayi.online – Hindi Sex Story पर पढ़ रहा है

अंजलि उठ के नीचे आयी और मेरा पैन्ट खोल दिया, उसके बाद मेरा लण्ड तो पहले से तना हुआ था। उसने झट से मेरा लण्ड मुह में ले लिया और एकदम मस्त होक चुसने लगी। तब आंटी ये देख मुझे किश करने लगी , मुझे तो जन्नत नसीब हो रहा था इक मेरा लण्ड चूस और एक मेरे साथ किश कर रही मैंने ऐसा कभी सोचा नही था।

आंटी ने झट से अपना अपने कपड़े उतार दिया और पूरी नंगी हो चुकी थी। आंटी को यू बिना कपड़ो के देख मेरा लण्ड उर भी करा हो गया। आंटी ने कहा अब तुम इसकी चुदाई करो। मैंने अंजलि की जीन्स खोली तो देखा उसकी चूत गीली हो चुकी है, उसे बेड पे लिटा दिया और उसके टांगो को फैला दिया। उसके बाद आंटी ने कहा रुको तुम इसकी चुदाई करना और ये मेरी चूत चटेगी। अंजलि ने कहा नही मैं ये नही करूँगी , तो आंटी कहने लगी देखो विक्की अगर मेरे कहे मुताबिक तुमलोग ने नही किया तो मुझे मुज़बूरण कॉल करने पड़ेगा ।

फिर मैं अंजलि से रिक्वेस्ट करने लगा कि जैसा आंटी कहती है वैसा ही करो प्लीज, और अंजलि मान गयी। उसके बाद मैंने उसकी चूत पे अपना लण्ड रखा और एक झटके में पूरा लण्ड पेल दिया। अंजलि की आह निकली तभी आंटी ने अंजलि का मुह अपने चूत पे रख दिया और बोली तुम चालू रहो। वैसे भी दवा और रेडबुल अपना असर दिखना चालू कर दिया था। मैं पूरे जोश में उसकी चुदाई करने लगा, अंजलि कहने लगी आराम से करो मुझे बहोत दर्द हो रहा लेकिन मेरे जोश तो चरमसीमा पे था मैं कहा सुनने वला था। मैं लगतार उसकी 30मिनट तक चुदाई करता रहा तबतक आंटी कभी चूत चटा रही थी तो कभी अंजलि की चुचियो को दबा रही थी। दवा के करण मेरे जोश कुछ ज्यादा ही बढ़ गया था। उसके बाद मैं उसकी चूत में झर गया। यह कहानी आप Bhabikichudayi.online – Hindi Sex Story पर पढ़ रहा है

अब आंटी ने बोला अब मेरी बारी तो अंजलि कहने लगी तो अब आप मेरी चूत को चटेगी। आंटी बोली हा क्यों नही,हम तीनों एक दूसरे को पूरी तरह से मज़ा देंगे। चलो विक्की तैयार हो जाओ। मेरा तो अभी भी सांत नही हुआ था। उसके बाद आंटी लेट गयी और बोली विक्की आज तुम्हरे अंदर जितनी ताकत है सब मेरे ऊपर दिखा दो।

उसके बाद मैंने आंटी की चुदाई चालू कर दी और आंटी अंजलि की चूत चाटने लगी। मैंने आंटी की भी चुदाई पूरे मज़े में की उसके बाद मैंने आंटी की गण्ड मेरी फिर अंजलि की भी गण्ड मारी। ये सेक्स का मंजर 2-3 घण्टे चला उसके बाद हम तीनों थक के चूर हो गए। कुछ देर हम ऐसे है लेते रहे फिर अंजलि के जाने का टाइम हो गया और आंटी का बेटा भी आने वाला था।

उसके बाद हम सबने कपड़े पहने, अंजलि ने कहा ये थ्रीसम कर के पहली बार बहोत मज़ा आया। तो आंटी ने कहा अब जब भी मौका मिले हम कर लिया करनेगे। उसके बाद आंटी भी चली गयी और अंजलि भी। अब जब भी हमे कोई मौका मिलता है हम साथ मे सेक्स करते है और खूब मजा लेते. यह कहानी आपको कैसी लगी आप हमे जरूर बताये|

ऐसी ही कुछ और कहानियाँ

Leave a Comment