गांव की गोरी लड़की को पटा के चोदा

Desi Kahani – हेल्लो दोस्तो मेरा नाम सुजीत है। मैं आज एक रोमांचक सेक्स की कहानी लिख रहा हूँ। जो मेरी अपनी खुद की कहानी है। मैं पहली बार कोई सेक्स की कहानी लिखने वाला हूँ। ये कहानी एक गांव की लड़की के साथ जो मैंने सेक्स किया वही बात आप सबके साथ प्रस्तुत कर रहा हूँ। आप सब पढ़ के जरूर बताना की कहानी कैसी लगी आपको।

मैं अंबाला में रहता हूँ और अभी मैं पढ़ाई ही कर रहा हूँ। मेरी उम्र अभी 20 साल है। मैं अपनी फैमिली के साथ ही रहता हूँ। मुझे सेक्स प्रति बहोत रुचि है इसलिय मैं अलग अलग लड़कियों को गर्लफ्रैंड बना के चोद लेता हूँ। मैने सेहर की बहोत लड़की चोद चुका था अब मेरा मन किसी गांव की लड़की को चोदने का मन था। मेरे एक दोस्त ने बताया था कि गांव की लड़कियों के चूत बहोत टाइट होते है। इसलिए मैंने भी मन बना लिया था कि किसी गांव की लड़की की चूत मरु।

ये कहानी सुरु कुछ दिन पहले सुरु हुई थी। मेरे चाचा की सादी मेरे शहर से एक गांव में 200 किलोमीटर दूर हो रहा था। मैं उनकी शादी में बारात गया था। मैं जब शादी में गया तो वहाँ एक लड़की देखी मैंने जोकि दिखने में बहोत सुन्दर थी। एक गोरी लड़की सुन्दर चेहरा लंबे बाल और एकदम परफेक्ट फिगर के साथ थी। उसकी चुचिया ज्यादा बड़ी नही थी लेकिन फिर भी वो बहोत सेक्सी लग रही थी। उसने लहँगा पहना हुआ था। वो चाची की किसी रिश्तेदार की लड़की थी।

उसे देख के मैं उसके प्रति मोहित हो गया। वो मुझे एक नज़र में पसन्द आ गयी थी। मैं तो जब उसे जयमाला के वक़्त देख उससे बात करने की सोची ली थी। अब इधर सादी हो रही थी लेकिन मैं तो उसके ऊपर लाइन मार रहा था। मैंने उसे जैसे तैसे कर के टोक दिया। पानी मांगने के बहाने उससे बात किया उससे उसका नाम पूछा, वो अपना नाम सुहाना बतायी।
मैं अब किसी न किसी बहाने से उससे रात भर सादी में उससे बात किया।

उसे भी मुझसे बात करना अच्छा लग रहा था। जब हमारे जाने का वक़्त हुआ तो मैंने अपना नम्बर उसे दे दिया बोला कि तुमसे दोस्ती करना चाहता हूँ। वो भी आराम से मेरा नंबर ले ली थी। उसकी बातो से वो एकदम सीढ़ी सादी लड़की थी। उसकी उम्र अभी 17 साल थी। वो एकदम जवान कली की तरह थी। जिससे मैंने तोड़ने की सोच रहा था।

अब मेरा उससे रोजाना बात सुरु हो गया था। वो मेरी बातों से मोहित हो रही थी मैं उसे पटाने की कोशिश में लगा हुआ था। उसे भी मुझसे बात करना अच्छा लगने लगा था। कुछ दिन बात करते हुए हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई। वो मुझसे प्यार कर बैठी थी और उसने अपने प्यार का इज़हार भी कर दिया था। अब वो मुझसे मिलने चाहती थी।

लेकिन वो अपने घर से कही बाहर नही जा सकती थी। उसका घर भी बहोत दूर था शहर से तो वो तो बस मिलने को तरफ रही थी। तबतक हमारे प्यार का परवान चढ़ रहा था। मैं उससे सेक्स की बाते करने लगा था। पहले तो वो थोड़ा हिचक रही थी लेकिन धीरे धीरे वो भी खुल के सेक्स के प्रति रुचि ले रही थी। मैं उसको वीडियो कॉल पे नंगा करवा देता और उसे चूत में उंगली करवा देता था।

तभी कुछ दिन के बाद उसे स्नातक की पढ़ाई के लिए एड्मिसन लेना था। उसके गांव में स्नातक की पढ़ाई नही होती थी। तो उसे दूसरे गांव में जाके डाकिला लेना था। मैंने उसे कहा कि तुम एड्मिसन के बहाने गांव के बाजार में आ जाना मैं तुमसे वही मिलने आ जाऊंगा। वो बजी राज़ी हो गयी और 2 दिन बाद मैंने प्लान बना लिया था। उसने मुझसे पूछा कि वहाँ कहा मिलेंगे तो मैंने कहा कि मेरा एक दोस्त बाजार में रूम लेके रहता है।

अब उस दिन मैं दोस्त के रूम पे गया उसे मना के मैंने उसे मूवी के लिए भेज दिया। कुछ देर बाद वो भी आ गयी मैं उसे लेने चला गया। वो अपने मुह पे दुप्पटा बांध के आयी थी। मैंने अपनी बाइक पे लेके सीधा रूम पे लेके चला गया। उसने उस दिन ब्लू व्हाइट सूट पहन रखा था। जिसमे वो बहोत खूबसूरत लग रही थी।

मैं उसे रूम में ले जाते ही गले लगा लिया। उसने भी मुझे कस के पकड़ लिया बोली आपसे मिलने को तरस रही थी। मैंने उसे किस किया ई लव यू बोला और हमारे बीच मिनट तक किश होता रहा। मेरा हाथ उसकी चुचियो पे चला गया था। मैं उसकी चुचियो को धीरे धीरे मसल रहा था। उसके मुह से हल्की सी कामुक आवाज आ रही थी।

मैं किस करता हुआ उसे बेड पे लेता दिया था। तबतक तो मेरा लण्ड खड़ा होके तन गया था। मैंने उससे बोला कि तुम वीडियो में तो बहोत दिखई हो अब। सामने से भी दिखा दो वो बोली मुझे श्रम आती है। मैंने बोला तो लाओ मैं खुद देख लेता हूं ,मैंने उसकी सूट को उतारना सुरु किया। वो चाह नही रही थी लेकिन मैंने उसकी सूट को खोल दिया। वो ब्लू कलर की लड़कियों वाली गंजी पहनी थी। मैंने उसे भी खोल दिया वो अपने हाथों से खुद को धक ली वो वाइट ब्रा में थी।

सुहाना की चुचिया ज्यादा बड़ी नही थी। लेकिन दबाने लायक थी, मैंने ब्रा की ऊपर से उसकी चुचियो को दबा दिया। वो हल्का सा सिहर उठी उसके मुह से ईश निकली मैंने उसकी ब्रा में से चुचिया निकाल लिया। उसे मुह से चुसने लगा वो बोल रही थी मुझे अजीब हो रहा है। मैं बोला कि ऐसे तो कहती थी कि सब करने का मन है। अभी अब ऐसे कर रही हो मेरा साथ नही दे रही हो। वो ठीक है मैं आपकी हूँ आपको जो करना है कर सकते है।

फिर मैं उसकी ब्रा को खोल दिया और अपना शर्ट को भी खोल दिया। उसने भी मेरा सीने पे किश किया। मुझसे लिपट गयी मैं अब उसकी हाथ पकड़ लिया और अपना लण्ड निकाल लिया और उसे पकड़ा दिया। वो मेरे लण्ड को पकड़ ली बोली बहोत मोटा है। मैं उसकी चुचियो को जोर जोर से दबा रहा था। वो उफ्फ आआह कर रही थी। साथ मे मैं उसकी चुचियो को चूस भी रहा था।

अब उसे किस करता हुआ नीचे गया और वो बोली अब ऊपर हो नीचे भी देखोगे। मैं बोला कि आज मौका है सब देख और कर लेने दो। फिर उसकी सलवार को खोल दिया साथ उसकी हरि रंग की पैंटी भी खोल दी। वो अब एकदम नंगी हो चुकी थी मैंने अपनी भी पैंट को खोल दिया। वो बोली अब तो सब देख लिए हो गया। मैं बोला कि अभी असली जन्नत बाकी है।

उसकी चूत पे बहोत बाल थे। मैंने उसकी चूत में उंगली कर दिया वो मेरा हाथ पकड़ ली बोली मत करो बहोत अजीब होता है और दर्द भी होता है। लेकिन मैं फिर भी उंगली अंदर बाहर करता रहा। अब उसकी चुदाई करने की बारी थी उसकी चूत गीली हो चुकी थी। मैं अब उसकी ऊपर आ गया। लण्ड मेरा उसकी चूत की छेद पे था। मैं थोड़ा जोर लगया लण्ड हल्का अंदर जाने को था कि वो मुझे रोक दी।

बोली ये मत करो दर्द होगा बहोत आपका बहोत मोटा है। उंगली जाने औए इतना दर्द होता है। आपका तो इतना मोटा है अंदर भी नही जयेगा। मैंने कहा डरो नही कुछ नही होगा। एक जोर का धका दिया कि लण्ड हल्का सा अंदर घुस गया। वो उठ के बैठ गयी उसकी मुह खुल गयी थी और आँखे बड़ी हो गई थी। वो दर्द के मारे कुछ बोल भी नही पा रही थी।
बस सर हिला के कह रही थी नही करो।

मैंने उसे लेता दिया और जोर से धका दिया। लण्ड पूरा अंदर घुस गयं और वो रोना सुरु कर दी। बोली इसे बहार निकाल दो बहोत दर्द हो रही है। मैं उसका कुछ सुना नही और लण्ड आगे पीछे करने लगा। 2-3ही धके के बाद मेरे लण्ड पे खून लग गया था। मैं समझ गया कि उसकी चूत की सील तोर दी है मैंने। वो तो अब बेड पे परी हुई थी मैं उसे धीरे धीरे चोदना सुरु किया।

जब वो रोना बन्द कर दी तो तो मैंने अपनी स्पीड थोड़ी बढ़ा दी। 5 मिनट तक चोदने के बाद उसने कस के मुझे पकर लिया। और फिर वो पस्त हो गयी वो झर चुकी थी लेकिन मैं लगा हुआ था। 10 मिनट और करने के बाद मैं भी झरने वाला था यो लण्ड निकाल लिया और सारा पानी बाहर छोड़ दिया। सुहाना की हालत खराब हो गयी थी।

जैसा मेरे दोस्त ने बोला था कि गांव की लड़की की चूत बहोत टाइट होती है। सच मे उसकी चूत टाइट थी उसकी चूत चोड के बहोत मज़ा आया था। उसके बार मैंने उसे 2 बार और चोदा उससे लण्ड भी चुसया। फिर उसे जैसे जैसे कर के कपरे पहने मैं उसे लेके उसे गांव के बाहर तक छोड़ आया।

Some Desi Kahani Sex Story In Hindi

Leave a Comment