पहली बार सेक्स किया एक रंडी के साथ

हेल्लो फ़्रेंड्स मेरा नाम अविनाश है, और मै अपनी पहली सेक्स की दासता आप सब से शेयर करने वाला हु। मै लखनऊ का रहने वाला हु। मेरी उम्र 27 साल है अभी ये बात आज से 1साल पहले की है। मै बचपन से ही पढ़ने में बहोत अच्छा रहा हु। मै पढ़ाई पे बहोत ध्यान देता था इसलिए मुझे किसी तरह के फैसन की आदत नही। मै दिखने मे एकदम एवरेज बन्दों की तरह हु न ही ज्यादा अच्छा न बुरा।

मेरी पढ़ाई अछि रही हमेसा से तो मुझे सरकारी नौकरी भी मील गयी। बस नही मिली तो वो थी एक लड़की,क्योंकि मैने हमेसा तो पढ़ाई में ध्यन लगया तो मै किसी लड़की की ओर ध्यन भी नही दिया। अब मेरी जॉब दिल्ली में लग गयी थी और मेरे वहाँ बहोत सारे दोस्त भी बन गए थे। हम सब आपस मे हसी मज़ाक किया करते थे।

उनमें से किसी की शादी हो चुकी थी तो कोई गर्लफ्रैंड वाला बन्दा था बस एक मै था जो सिंगल था।। वो लोग अक्सर मज़ाक में सेक्स की बाते करते थे। कोई अपनी बीवी को चोद रहा था तो कोई गर्लफ्रैंड को, और जिसे कोई नही मिलती वो 2 नंबर की लड़की के साथ कर लेता था। मै अबतक वर्जिन था और सब मेरा मज़ाक भी उड़ाते थे। यह अन्तर्वासना हिंदी कहानी आप bhabikichudayi.online आप पर पढ़ रहे है.

मेरे कुछ दोस्तों ने कहा यार तू कोई बंदी सेट कर ले लेकिन मेरे मे ये टैलेंट तो नही था। इक दोस्त ने कहा तू रात को कोठे पे चल जा वहा हर तरह की मिलती है। सेक्स करने का मन तो मेरा भी बहोत था लेकिन कोई उपाय नही था। मै रंडियों के पास भी जाने से डरता था क्योंकि वहां पुलिस के रेड का डर था। पकड़े जाने पे चरित्र पे भी दाग लगता और मेरी नौकरी भी जाति।

कुछ दिन के बाद मेरे एक दोस्त को बात करते हुए सुना कि दिल्ली में। एक जगह है। जहां जाओ और जो पसंद आती है उसे अपने साथ ले आओ सबका अपना अपना रेट है। मेरे दिमाग मे आया क्यों न यही किया जये। फिर मैने बातो बातो मे अपने दोस्त से पूछ लिया उस जगह का नाम। फिर आफिस ख़त्म होने के बाद मै अपनी कार से उस जगह पाउच गया। मैंने देखा वहा बहोत सी लड़कियां और औरते खरी थी। उनमे से मैंने देखा एक 22-23साल की लड़की होगी जो मुझे एक नज़र के भा गयी।

मगर मैं सोच रहा था इसे कैसे बोलू और उसकि ओर देख रहा था। तभी वो लड़की मेरी ओर आयी और बोली क्या साहब सिर्फ देखोगे या लेके भी जाओगे। फिर उसने कहा 1 हज़ार लुंगी पूरे रात भर का, बाद में कोई चिक चिक नही। मैंने कहा ठीक है और कार में बैठ जाओ और वहां से निकल गया। यह अन्तर्वासना हिंदी कहानी आप bhabikichudayi.online आप पर पढ़ रहे है.

थोड़ा आगे जाके मैंने कार रोकी और मैंने ओयो से एक होटल में कपल रूम बुक कर दिया। क्योंकि मैं अपने फ्लैट पे लेके उसे नही जा सकता था। उसके बाद मैंने उसकी ओर देखा तो उसकी कपड़े बहोत अजीब थी जैसे कोई नाचने वाली हो। मैं सोचा अगर इन कपड़ो में वो होटल में गयी तो वहा के लोग गलत सोचेंगे। मै फिर एक माल के पास गया और वहा से उसके लिए जीन्स और टॉप खरीद ली और साथ मे मैंने एक कॉन्डोम की पैकेट भी ले ली। उसके बाद मैं कार में गया और उससे बोला ये कपड़े पहन लो। क्या साहब इतने महँगे कपड़ा लेने की जरूरत क्या थी, इसके बदले 2-4 सौ ज्यादा दे देते। मैंने कहा टेंशन न लो तुम्हे 1000की जगह 2000 दूंगा, वो खुश हो गयी।

होटल जाने से पहले मैंने एक सांत जगह गाड़ी रोकी और बोला तुम यही कार में कपड़े बदल लो। वो पीछे वाले सीट पे चली गयी और अपने कपड़े उतार दीये। मैं उसे घुर के देखे जा रहा था वो बोली ऐसे क्या देख रहे हो यही कर दोगे क्या तो मैं आगे घूम गया। फिर मै होटल की ओर चल दिया ।

मै होटल में गया और काउंटर पे जाके अपनी बुकिंग दिखई। वो लड़की इन कपड़ो में अछि लग रही थी। काउंटर पे जो लड़की थी उसे लगा वो मेरी गर्लफ्रैंड है। फिर हम अपने रूम में चले गए उसने रूम देखता ही कहा वाह इतना बड़ा कमरा यहाँ तो ऐसी भी है टीवी भी। वो टीवी स्टार्ट कर के बेड पे लेट गयी और टीवी देखने लगी। मैंने तबतक खाना आर्डर कर दिया। और बेड पे जाके बैठ गया,उससे पूछा नाम क्या है तुम्हरा तो उसने अपना नाम रानी बताया। थोरे देर में खाना आ गया और हम खाने लगे साथ ही। उसके बाद उसने कहा साहब अब जिस काम के लिए लये हो वो भी कर लो। मैंने उससे कहा तुम मुझे अविनाश कह के बुलाओ साहब नही।

मुझे ज्यादा कुछ पता नही था, मै सीधा उसे अपनी ओर कीच के किश करने लगा। वो भी बहोत अचे से मेरे साथ किश कर रही थी। उसके बाद मेरा हाथ उसके बूब्स पे चले गए और मेरा लण्ड भी एकदम टाइट हो गया। मै उसका बूब्स दबाया और बोला बहोत सॉफ्ट है। और मैं काफी देर तक उसके बूबस को मसलता रहा। वो बोली दबाओ गे ही या चोदोगे भी ल, मैंने कहा मैं ये सब पहली बार कर रहा तो मुझे ज्यादा कुछ मालूम नही। वो हँसने लगी और बोली चल कोई बात नही मुझे बहोत एक्सपीरियंस है।

उसने मुझे नीचे लिटा दिया और मेरे ऊपर आ गयी और मेरे शॉर्ट के बटन खोलने लगी । बटन खोलते हुए वो नीचे चली गयी और मेरे पैंट को खोल दिया। मेरे लण्ड को निकाल के सहलने लगी। मुझे ये बहोत अच्छा लग रहा था।, उसके बाद वो मेरे लण्ड को अपने मुँह में ले ली और चूसने लगी।। उसने मेरी उतेजना बढ़ा दी थी,वो लगातार 10 मिनट तक ऐसे ही चूसते रही और मैंने अपना सारा माल उसके मुंह मे गिरा दिया। यह अन्तर्वासना हिंदी कहानी आप bhabikichudayi.online आप पर पढ़ रहे है.

उसके बाद उसने मेरा पैंट पूरा उतार दिया और शर्ट भी खोल दी। फिर मैंने उसे बेड पे लिटा दिया और उसका टॉप खोल दिया साथ मे उसकी ब्रा भी खोल दी। और उसके चुचियो को चूसने लगा। फिर मै उसकी जीन्स को खोल दिया। मैंने देखा उसकी चूत पे एक भी बाल नही थी लेकिन उसकी चूत काली हो चुकी थी। अब मेरा लण्ड उसे चोदने को बेताब था। मैंने अपने लण्ड पे कंडोम लगया। यह अन्तर्वासना हिंदी कहानी आप bhabikichudayi.online आप पर पढ़ रहे है.

मैंने झट से लण्ड उसकी चूत में डाल दिया और एक बार मे ही लण्ड अंदर चला गया। उसे कोई दर्द भी नही हुआ क्योंकि उसने बहोतो लण्ड से चुदाई करवा चुकी थी। मै अपनी पूरे दम से चोदने लगा। वो बस आह आह कर रही थी, फिर थोरे देर बाद मै झर गया।उसके बाद वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लण्ड पे बैठ के चुदने लगी। उस रात मैंने उसकी तीन बार चुदाई की और उसके साथ वैसे ही सो गया।

कल सुबह होके मैंने उसे उसी जगह पे छोड़ दिया जहां से लाया था।और अब मै उसे कभी कभी चोद लिया करता हु।जब भी मेरा मूड बनता है। मिलते है दोस्तो नेक्स्ट स्टोरी में जिसमे मैंने अपने मोहल्ले की भाभी के साथ सेक्स किया.

ऐसी ही कुछ और कहानियाँ

Leave a Comment