Kavita bhabhi ki chudai dukandar k sath

Bhabhi Ki Chudai

Bhabhi Ki Chudai – सभी दोस्तों मेरा नमस्कार, मैं रतन किसोर आज आप सभी भाभी की चुदाई हिन्दी सेक्स स्टोरी पढ़ने वालों को मैं अपनी एक मजेदार कहानी बताने वाला हूँ। मैं काफी समय से हिन्दी सेक्स कहानिया पढ़ता आ रहा हूँ। तो मैंने भी सोचा क्यों न आज अपनी भी कहानी आप सबको बतायी जाए। वैसे तो मैंने बहोतो बार सेक्स किया है। लेकिन ये आनंद मेरे लिए बहोत उत्तम था , इसलिए ये कहानी मैंने लिखने की सोची है।

Kavita Bhabhi ki Chudai

मैं वाराणसी का रहने वाला हूँ।मेरी उम्र 36 साल है, मेरा एक कपरे का दुकान है। मेरी सादी हो गयी है और मेरा एक बच्चा भी है। मुझे सेक्स करने के बहोत तलब रहती है। मैं अपनी बीवी के साथ रोजाना सेक्स करता हूँ। मैंने अपनी बीवी को इतना चोदा है कि उसकी चूत एकदम ढीली हो गयी है। तो पहले जैसा मज़ा नही रहा था। मैं अब एक नुई चूत की तलाश में था।

हमेसा की तरह मैं अपने दुकान में बैठा हुआ था। एक दिन एक महिला मेरे दुकान पे आयी। उसकी उम्र लगभग 30 की होगी। वो दिखाने में काफी खूबसूरत लग रही थी। उसे देखते ही मेरा मन उसे चोदने का हो गया । वो खूबसूरत के साथ साथ सेक्सी भी थी। उसकी फिगर बहोत मस्त थी। उसकी चुचिया एकदम गोलगोल उभरी हुई। पीछे से गण्ड निकली हुई थी। अगर मेरे बस चलता तो उसी वक़्त उसके साथ सेक्स कर लेता।

वो आयी और सारी दिखने को बोली मैंने उसे बहोत अच्छी अच्छी साड़ी दिखाई। मैं चाह रहा था कि वो मेरे दुकान से कोई न कोई सारी लेके ही जाए। कुछ देर सारी दिखाने के बाद उसे एक साड़ी पसन्द आ गया। मैं जान के उसे कम दाम पे वो साड़ी दे दी थी। मैंने उसे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम कविता बताया ।उस दिन वो चली गयी।

कुछ दिनों के बाद वो फिर से मेरे दुकान पे आई और इस बार उसे सूट लेना था। मैंने उसे बहोत सारी सूट दिखाई लेकिन कोई पसन्द नही आई। थोरे देर बाद वो शर्माते हुये बोली कि आपके पास ब्रा होगा। उस दिन उसने गोल्डन टाइट ब्लाउज पहना था जिसमे उसकी चुचियो के आकार साफ पता चल रहे थे। मैं जान गया था कि उसके चुचियो का साइज 32B है ,लेकिन मैंने जान के उसे पूछा कोनसे साइज की दु।

उसने वही साइज बताया फिर उससे पूछा कि किस प्रकार में चाइये। वो बोली कुशन ब्रा दिजीये ब्लैक या ब्लू में मैंने दोनो रंग के ब्रा उसे दे दिए। वो बोली नही मुझे एक ही चाहिए। फिर वो बोली की आप अच्छे सूट के दोगे तो मैं बोला कि आप अपना व्हाट्सएप नंबर दे दो जब आएंगे तो मैं सारे फ़ोटो आपको भेजे दूंगा। उसने तुरंत अपना नम्बर दे दिया।

अब मैं उसे अक्सर कोई न कोई बहाने से मैसेज कर देता था। वो मेरी रेगुलर कस्टमर बन गयी थी। एक दिन मैंने उसे बहोत से साड़ियों के डिज़ाइन भेजे उसे 2-3पसन्द आये। वो बोली पसन्द तो आ गए लेकिन मैं अभी नही आ सकती हूं। तो मैंने कारन पूछा तो वो बोली कि मेरी सास की तबयत ठीक नही है। तो मैंने कहा आप दिक्कत न करो मैं सारी साड़ी को लेके आपके घर आ जाता हूं। वैसे भी आप मेरी रेगुरल कस्टमर हो तो इतनी सुविधा देनी होगी न। उसने अपना एडरेस दे दिया और मैं उसके घर पाउच गया।

मैं उसके घर गया तो उसने मुझे बाहर बैठा दिया। वो उस दिन घर पे बहोत मस्त लग रही थी। उसने नएटी पहनी हुई थी। वो एकदम सेक्सी लग रही रही थी। मैं उसे साड़ी दिखाने लगा तो उसे दो पसन्द पसन्द आयी। तो मैं बोला कि आप घर मे पहन के देख लो जो पसन्द आये वो ले लेना। वो पहने अंदर गयी कुछ देर बाद बाहर आई वो उस सारी में बहोत खूबसूरत लग रही थी। मैंने उसकी तारीफ की और बोला आपको दिकत न हो तो आपकी एक तस्वीर ले लू। तो वो बोली कि यहां बाहर कोई देख लेगा। आप अंदर आ जाओ , मैं घर मे गया और वो अलग अलग पोज़ में साड़ी में फ़ोटो लेने लगी।

मैं घर मे किसी को नही देखा तो उसे पूछा तो वो बतायी की उसके घर मे अभी सिर्फ उसकी सास है। जो अपने कमरे के सोई हुई है। मेरे मन मे हिम्मत बढ़ गयी और मैंने उसे पकड़ लिया और बोला कविता जी आप बहोतो सुन्दर हो । वो बोली ये आप क्या कर रहे मेरी सास आ जयेगी तो बहोत गलत हो जयेगा। उसे देख मैं खुद को रोक नही सकता था। वो कुछ और बोलती उसे पहले मैंने उसे चुम लिया और उसके होठो को चुसने लगा। वो मेरा विरोद कर रही थी मैंने उनकी साड़ी नीचे से उठा दी और उसके चूत को सहलने लगा।

वो गर्म हो गयी और उसे भी सेक्स करने की उतेजना जग गयी थी।। वो मुझे धकेल के बोली यहाँ ये सब करना सही नही है आप मेरे रूम में चलो। वो घर को लॉक कर के मुझे आने रूम में लेके चली गयी। अब उसके भी मन मे सेक्स करने की ललक दिख रही थी। मैंने उसे फिर से किस करना सुरु कर दिया और इस बार वो भी मेरा साथ दे रही थी। उसने मेरी शर्ट को खोल दिया और मेरे सीने को चूमने लगी। उसके अंदर भी सेक्स करने की आग लगी हुई थी।

मैंने उसकी साड़ी उतरना सुरु कर दिया वो अब ब्लाउज और पेंटी में थीं उसने पेटिकोट नही पहना था। मैंने देर न किया क्योंकि की उसकी सास उठ सकती थी। मैंने जल्दी से अपने पैंट को खोल दिया। उसकी पैंटी भी उतार दिया। उसके ब्लाउज और ब्रा को भी खोल दिया। हम दोनों पूरे नंगे हो गए थे। अब मैं उसकी चूत को चाटने लाग और अपने लण्ड को उसकी मुँह में दे दिया। हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए थे। कुछ देर बाद वो मेरे मुह में और मैं उसके मुह में अपना माल गिरा दिया।

अब बारी उसकी चूत की चुदाई की थी। मैं उसे सीधा किया उसके टांगो को फैला दिया। अपने लण्ड को उसकी चूत पे लगा के उसके अंदर धकेल दिया। मैं जोर जोर से उसकी चुट मार रहा था। वो भी पूरा मज़ा उठा रही थी। कुछ देर बाद मैं उसकी चूत में अपना पानी छोर दिया और मेरे साथ वो भी झर गयी। उसके बाद मैंने उसकी दो बार और चूत मारी और हर बार अपना पानी उसकी चूत में गिरा देता था।

उसके बाद मैंने अपना कपड़ा पहना और वो भी कपड़ा पहन ली । उस दिन मैंने उसे वो साड़ी उसे उसकी चूत की चुदाई में मैंने गिफ्ट कर दिया। उसके बाद से तो बस उसे जब भी साड़ी लेना हो तो जब उसके घर कोई नही रहता था तो मुझे बुला लेती थी। मैं उसकी चूत मरता और उसे वो सारी गिफ्ट कर देता था। यह कहानी आप Bhabhi Ki Chudai पर पढ़ रहे थे

दोस्तों मई आशा करता हु की आप सभी को ये कविता भाभी की चुदाई पसंद आयी होगी. अगर आपको ये हिंदी सेक्स भाभी की चुदाई मज़ेदार लगा तो आप एक प्यारा सा कमेंट हमे जरूर करे.

Some Hot Bhabhi Ki Chudai Story

Leave a Comment