लॉकडाउन में स्वीटी की टूटी सील

Hindi Sex Story – हेलो दोस्तो मैं रेहान आज आप सब को अपनी एक सेक्स की स्टोरी बताने वला हूँ। मैं अक्सर अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पे सेक्स की कहानी पड़ता था। तो मैंने सोचा क्यों न अपनी भी एक कहानी आप सब को बतायी जये। वैसे तो मैंने बहोत से लड़कियों को चोदा है, लेकिन ये स्टोरी मेरे लिए बहोत खास है। जिसमे मैंने अपनी बगल में रहने वाली 16 साल की लड़की की लॉकडाउन के दौरान चोद के सील तोरी और गण्ड भी मारी।

तो दोस्तो अब मैं स्टोरी पे आता हूँ, ये बात तब की है जब पूरे देश मे लॉकडाउन था। मैं अपने बारे में पहले आपको बता दु, मेरी उम्र अभी 22 साल है। मैं बिहार के वैशाली जिला का रहने वाला हूँ। लेकिन मैं पुणे में अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था। मैं हमेसा से अपने घर के बाहर रहा हूँ पढ़ाई को लेके इसलिए मुझे अपने घर के अगले बगल के कुछ पता नही था।

लेकिन बहोत दिनों के बाद इस साल मैं होली में अपने घर आया था और साथ मे मेरे घर मे सादी भी थी। सादी तो कैंसिल हुई लॉकडाउन के कारण मैं फस गया अपने घर पे क्योंकि पूरे देश के लॉकडाउन हो गया था।

अब मैं अपने घर पे ही रहने लगा कहि बाहर आना जाना नही था। बस घर के अगले बगल घूम लिया करता था। एकदिन सुबह मैं अपने छत पे घूम रहा था, तभी मेरी नज़र एक लड़की पे परी जो अपने घर के बाहर झाड़ू लगा रही थी। वो काफी सुंदर लड़की थी। पतली कमर छोटे छोटे चुचिया, एकदम से गोरा बदन।झाड़ू लगते समय वो जुख के झाड़ू लगा रही थी जिसे उसकी चुचियो की दर्दर दिख रही थी। उसने अंदर वाइट कलर की ब्रा पहन रखी थी। उसे देख मेरे मन की उतेजना बढ़ गयी । कुछ देर बाद वो अंदर चली गयी, लेकिन वो मेरे मन को भा गयी थी। मुझे उसे चोदने को मन करने लगा था। क्योंकि की लॉकडाउन होने के कारण मुझे बहोत दिनो से चूत के दर्सन नही हुए थे। और पुणे में मैं अपनी गर्लफ्रैंड को अक्सर चोदा करता था। तो मुझे चूत चोदने की आदत हो चुकी थी।

अब मेरे पास उस लड़की से बात करने का कोई मौका नही था क्योंकि मुझे अपने अगले बगल किसी से बात चीत नही थी। लेकिन एकदिन हमारे बगल के अंकल हमारे यहाँ आये जोकि उस लड़की के पाप थे।
वो मेरे पापा से बात कर रहे थे, तो बात बात में वो मेरे बारे मे पुछने लगे कि मैं क्या कर रहा हूँ। तो मेरे पापा ने। बताया कि मैं कंप्यूटर इंजीनियर की पढ़ाई कर रहा हूँ। फिर पाप ने उनकी बेटी के बारे में पूछा, जिसका नाम स्वीटी था।। तो उन्होंने बताया कि वो अभी 10वी की परीक्षा दी है। अब लॉकडाउन के बाद उसका किसी अचे कॉलेज में एड्मिसन कराना है। वो बोले अभी स्वीटी की पढ़ाई बन्द है, और अभी रेहान भी घर पे बैठा रहता होगा। तो क्यों न वो स्वीटी को कुछ कंप्यूटर की जानकारी दे दिया करता। मेरे पापा ने भी हा कह दिया।

मैं मन ही मन सोचा चलो अच्छा है, उसे पढ़ने के बहाने उससे नाजदिकया बढ़ सकती है और मेरा जुगाड़ हो सकता है। अगले दिन से रोज सुबह मैं उसे 1 घण्टे के लिए पढ़ने के लिए जाने लगा। हमारे बीच अछि बात चीत होने लगी थी लेकिन मैं कुछ कर नही सकता था क्योंकि उसके मम्मी पापा भी घर मे ही रहते थे। मैं उसे पढ़ने के बहाने उसे घूरता रहता था और उसकी चुचियो को तारता था। लेकिन कुछ कर नही सकता था।

रोजना की तरह मैं उस दिन भी उसके घर गया। उसने अंदर आने को बोला मैं देख अंदर कोई नही है तो उससे पूछा सब कहा है तो वो बोली मम्मी की तबयत ठीक नही थी तो पापा मम्मी को लेके डॉक्टर के यहाँ गए है शाम तक आएंगे। मैं समझ गया आज ही मौका है कुछ करने का , इससे अच्छा मौका नह मिलने वला मुझे। मैं झट से भर गया और अपने घर कॉल कर के बोल दिया मैं अपने दोस्त के यहाँ जा रहा हु शाम तक आऊँगा।

फिर मैं घर के गया और प्लान सोचने लगा कि इसे कैसे राजी करू। फिर मैं कंप्यूटर रूम में उसके साथ गया। तब मेरे दिमाग मे एक तरकीब आया। मैंने उससे बोला कि आज मैं तुम्हे कंप्यूटर पे इंटरनेट चलना सीखा देता हूँ। मैंने नेट कनेक्ट कर के बोला, तुम्हे जो भी जानकारी चाहिए यहाँ से तुम खोज सकती हो। वो बोली कि ये तो मैं मोबाइल में भी कर लेती हूँ क्योंकि उसके पास खुद का मोबाइल था।
तब मैंने उसका मोबाइल लिया और उसका ब्राउज़र खोला। ब्राउज़र खोलते ही एक पोर्न साइट लोड लेने लगा। वो ये देख के दर गयी और मुझसे मोबाइल ले लिया।।

मैंने उससे बोला कि तुम ये सब भी देखती हो। तो उसने कुछ नही बोला और अपनी नज़रे नीचे कर ली। मेरे मन ही मन चलने लगा कि अब मेरा रास्ता साफ लग रहा है। तब मैंने उससे पूछा कि जो इसमे चल रहा क्या तुमने कभी ये सब किया है। तो वो बोली नही मैंने ऐसा कभी कुछ नही किया। फिर उससे पूछा तुम्हरा कोई बॉयफ्रेंड नही है। तो वो बोली है लेकिन मैंने कभी ये सब नही किया बस किश किया है। वो दर के कहने लगी कि प्लीज आप ये सब पापा को मत बताना नही यो मुझे बहोत डाट और मार पड़ेगी।

मैंने उससे कहा तुम डरो नही मैं किसी को कुछ नही बोलूंगा। इस उम्र में ये सब लड़के लड़की करते है। मैंने भी किया है, मैं अपनी गर्लफ्रैंड के साथ रेगुलर सेक्स करता हूँ। लेकिन इस लॉकडाउन के कारण बहोत दिनों से नही किया हूँ। फिर मैंने उससे कहा लय तुम मेरे साथ करोगी ये सब, मेरी ये बात सुन वो दर गयी और बोली नही मुझे ये सब सही नही लगता आप ये क्या बोल रहे है। मैंने कहा देखने में तो तुम्हे कोई दिक्कत नही फिर करने में क्या है। वो बोली नही मुझे दर लगता है , किसी को पता चल गया कुछ हो गया तो।

मैंने उसके कंधे पे हाथ रख के बोला तुम डरो नही कुछ नही होगा । मुझे बहोत एक्सपेरिंस है इन सब का, और अगर तुम ये सब मेरे साथ नही करोगी तो मैं सब तुम्हरे पापा को बता दूंगा की तुम पोर्न देखती हो और तुम्हरा बॉयफ्रेंड भी है। वो डर गयी और रिक्वेस्ट करने लगी कि किसी को कुछ नही बोलने आप जैसा बोलोगे मैं वो करूँगी।

उसके बाद मैंने उसे गले लगा लिया और उसे किस करने लगा। वो मेरा साथ नही दे रही थी लेकिन मेरा विरोध भी नही कर रही थी। उसके हाथ एकदम रसीले थे , जिसे चुसने में बहोत मज़ा आ रहा था। फिर मैं उसे बेडरूम में लेके गया और उसे बेड पे लिटा दिया। वो कुछ बोल नही रही थी और जो मैं कर रहा था चुप चाप करने दे रही थी। मैंने उसका दुपट्टा हटा दिया और उसके पूरे बदन को चूमने लगा। वो सिहर रही थी।

मैं जंगली सेर की तरह उसकी बदन को पूरी तरह से चुम रहा था। काफी समय बाद मुझे ऐसा माल मिला था। वो भी सील पैक माल थी जिसे मुझे बहोत ख़ुशी हो रही थी। फिर मैंने उसका सूट खोल दिया और वो पिंक कलर की ब्रा पहन रखी थी। उसके बूबस की साइज 28 थी। लेकिन उसके निप्पल एकदम करे हो गए थे। वो अपने हाथ से अपने स्तन को ढकने की कोसिस कर रही थी। लेकिन मैंने उसका हाथ हटा दिया और उसके चुचियो को दबाने लगा।

वो मोअन करने लगी वो आह आह और ऊह ऊह कर रही थी। उसके बदन को चूमते हुए मैं उसकी नाभि पे गया और और अपनी जीभ से उसकी नाभि को चाट लिया जौसे वो सहम गयी। फिर मैंने उसकी सलवार खोल दी साथ मे उसकी ब्लैक पेंटी भी उतार दिया और उसके ब्रा को खोल के उसके चुचियो को भी आज़ाद कर दिया। वो मेरे सामने एकदम नंगी सोई थी। उसका फिगर बहोत हॉट और सेक्सी था।

फिर मैंने भी अपना सारा कपड़ा उतार दिया, और उसके ऊपर बैठ गया और अपने लण्ड को उसके मुह के पास ले गया और बोल इसे अपने मुह में लो । वो माना करने लगी कि बहोत गन्दा है, मैं ये नही कर सकती हूँ। मैंने उसका मुँह खोल दिया और लण्ड उसके मुह में पेल दिया और अंदर बाहर करने लगा। कुछ देर बाद खुद से मेरे लण्ड को चुसने लगी लेकिन वो पूरा अंडर नही ले रही थी। तो मुझे मज़ा नही आ रहा था। उसके बाद मैंने उसका चूत पे उंगली फेरा उसके मुँह से उऊह निकली मैं नीचे गया। उसकी चुट एकदम चिकनी थी, एकदम गुलाबी चूत मैं उसकी चूत को चाटने लगा। कुछ देर बाद उसने अपना पानी मेरे मुह पे छोर दिया।

अब बारी उसकी चुदाई की थी, मैंने उसकी चूत पे थूक लगया और एक उंगली अंदर डाली । उसकी चूत बहोत टाइट थी , उसके मुह से आह आह की आवाज आई। फिर मैंने अपना लण्ड उसकी चूत पे टिका दिया और थोड़ा सा अंदर घुसाया काफी जोर से ढका देने पे थोड़ा अंदर गया। और स्वीटी के मुँह से चीख निकल गयी घर मे कोई नही नही था, तो कोई दिक्कत की बात नही थी। वो कहने लगी इसे बाहर निकालो मुझे बहोत दर्द होरहा। लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और पूरा लण्ड अंदर धकेल दिया। उसकी आँखें बड़ी हो गयी, वो जोर जोर से रोने लगी मुझे छोर दो बहोत दर्द हो रहा है।

मेरे लण्ड के अंदर जाने से उसका सील टूट चुका था मैंने लण्ड बाहर निकला तो मेरे लण्ड पे खून लगा हुआ था। कुछ देर रुक के मैंने फिर से लण्ड अंदर डाल दिया। इस बार उसे उतना दर्द नहीं हुआ। अब मैंने अपना लण्ड अंदर बाहर करने लगा। साथ मे मैं उसकी चुचियो को भी दबा रहा था। मैंने अपनी स्पीड भी बढ़ा दी थी। और उसे भी मज़ा आ रहा था। वो भी अब मेरे लण्ड का मज़ा ले रही थी। उसे भी चुदने में माज़े आ रहे थे। कुछ देर में वो झर गयीं। थोरे देर बाद मेरा भी निकलने वला था तो मैंने लण्ड निकल के अपना माल बाहर गिरा दिया।

मैं थोरे देर उसके सात लेता रहा क्योंकि वो भी थक गई थी और मैं भी थोरे देर बाद मेरा मूड फिर से बन गया । उसके बाद मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदा और अलग अलग पोज़ में थीं बार चोदा फिर मेरी नज़र उसकी गण्ड पे गयी और मैंने अपना लण्ड निकल के उसकी गण्ड में पेल दिया। वो बेड पे गिर गयी और बोली ये कहा दाल दिया। मैंने उसका मुह बन्द किया और उसका गण्ड मारने लगा फिर उसकी गण्ड में झर गया। शाम होने वला तो मैं उसे आराम करने दिया और अपने घर आ गया। उसके फिर मुझे मौका नही मिला उसे चोदने का।

यह मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरी है दोस्तों आप लोग को ये मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी आप हमे कमेंट करके जरूर बातये अगर आपके पास भी ऐसी सेक्स स्टोरी है तो आप हमारे साथ शेयर जरूर करे.

ऐसी ही कुछ और हिंदी सेक्स कहानियाँ

Leave a Comment