पापा मुझे देख के अन्तर्वासना में खो गए

Antarvasna Free Sex Kahani – हेल्लो दोस्तो मैं रिया आज आप सभी हिन्दी सेक्स स्टोरी पढ़ने वालों के सामने अपने साथ हुए एक सेक्स की दास्तां बताने वाली हूँ। वैसे तो मैंने अपने बॉयफ्रैंड के साथ किया रहा लेकिन ये सेक्स मेरे अपने पापा के साथ हुई एक सेक्स की रात की है।

मैं अपने फैमिली के साथ रहती हूँ। मेरे घर मे मम्मी पापा और मेरी छोटी बहन रहती है। मेरी उम्र अभी 20 साल है, मैं कॉलेज में पढ़ रही थी। मेरी फैमिली बहोत मॉडर्न ख्याल की है। हम सब आपस मे खूब ख़ुशी से रहते थे। मुझे टिकटोक बनाने का बहोत सौख था मैं रोज 2-4वीडियो बना लेती थी। वीडियो बनाने में मेरी छोटी बहन या मेरी मम्मी मदद करती थी। मैं जान छोटे कपड़े पहन के वीडियो बनाती थी।

Antarvasna free sex kahani
Antarvasna Free Sex Kahani

मेरे पापा को मेरी वीडियो बहोत पसन्द आती थी। मैं सारी वीडियो उन्हें दिखती और तब पोस्ट करती थी। पापा मेरे वीडियो की बहोत तारीफ करते थे। पापा मुझसे बहोत प्यार भी करते थे। मैं उनकी लाडली थी।
मेरे हर के फरमाइश को पूरा कर देते थे।

एक दिन हुआ ये की मेरी मम्मी और मेरी छोटी बहन नानी के यहाँ चली गयी। उस दिन मेरा मन नही लग रहा था। शाम को जब पापा काम से आये तो मैंने उन्हें चाय दिया और बोला की पापा आज आप मेरी वीडियो बनाने में मदद करोगे।

क्योंकि आज मम्मी भी नही है और न बहन है। वो बोले है क्यों नही चलो। मैं बोली मैं तैयार होके आती हूँ। मैंने एक क्रॉप टॉप और मिनी स्कर्ट पहन लिया। जिसमे मैं बहोत हॉट दिख रही थी। वैसे तो मेरी फिगर भी बहोत सेक्सी थी।

मैंने पापा को रूम में बुला लिया। उन्हें विडोए बनाने को बोला मैं तो अलग अलग गाने और डायलॉग पे डांस कर रही थी। मेरे पापा की नज़र तो मेरे ऊपर से हट ही नही रही थी। वो मुझे एकदम घूर घूर के देखे जा रहे थे। उनका इस तरह से मुझे देखना अजीब लग रहा था। पापा ने मुझे पहले ऐसे कभी नही देखा था।

लेकिन मैं फिर वीडियो बनाने में लग गयी। कुछ डांस के पोज़ में मेरी स्कर्ट उठ जाती थी। जिससे मेरी जांघ दिख जाती थी। पापा की सीधी नज़र मेरे टैंगो पे जाती थी। जब जब कूदती थी तो मेरी चुचिया उछाल जाती थी।

2-4 वीडियो बनाने के बाद मैं बोली बस पापा आज रहने देते है। पापा बोले कि आज तुम बहोत अच्छी दिख रही हो। आओ आज साथ मे फाटो लेते है। मैं भी फ़ोटो लेने लगी पापा मेरे पीछे थे और मैं सेल्फी ले रही थी।

पापा मेरे से एकदम सत गए तभी मैंने अपनी गांड की पीछे कुछ महसूस किया। मैं थोड़ी आगे हो गयी। मैं सेल्फी ले ही रही थी कि पापा ने पीछे से मेरे चुचियो को पकड़ लिया। वो मेरे गर्दन पे किश कर दिया।

मैं झटक के उनसे दूर हुई बोली कि पापा ये क्या हरकत है। आप बहक गए हो क्या, वो बोले हा बेटी आज तुम्हे देख मेरे मन तुम्हरे साथ सेक्स करने को हो उठा है। वो सीधा अपना लण्ड निकाल दिए बोले ये देखो तुम्हे तब से देख के खरा है।

अब इसे भी बर्दाश्त नही हो रहा है। आज तुम्हरे इस मटके झटके चाल ने मेरे दिमाग को घुमा दिया है। मैं बोली कि मैं आपकी बेटी हूँ। वो बोले तुम्हे देख किसी आज मैं इस रिश्ते को भूल चुका हूँ। आज तुम मेरी बन जाओ और अपने आप को मुझे सौप दो।

वो मेरे करीब आये मुझे दीवाल में सटा दिए। मेरे गर्दन और कंधों पे चुंमने लगे। मैं उसने हटना चाह रही थी लेकिन पापा मुझे पकड़ के दबा दिए थे। मेरे चेहरे को पकड़ के मेरी होठो को चुंमने लगे। उनका एक हाथ नीचे चला गया मेरी चुचियो को दबोच लिए।

मैं पलट के दीवाल में सत गयी। पापा मेरी दोनो चुचियो को पकड़ के दबा रहे थे। वो मेरे गर्दन पीठ कंधे पे किश कर रहे थे। जो मुझे गर्म किये जा रही थी और उनका विरोध करने से रोक रही थी।

अब वो मुझे छोड़ अब नीचे बैठ गए। और मेरी स्कर्ट को नीचे कीच दिए। वो खरे हुए और मेरी टॉप मो उतार दिए। मैं ब्रा पेंटी में आ गयी थी। उन्होंने मेरी गांड में लण्ड लगा दिया था। मेरी पीठ चुम रहे थे मेरे कमर को पकड़ के हाथ सहला रहे थे।

अब वो मुझे पलट के अपने गोद मे उठा लिए और बेड पे पटक दिया। वो नीचे बैठ गए और मेरी पेंटी को उतार दिए। मेरे पैरों को चुंमने लगे और मेरी जांघो पे किश करते हुए मेरी चूत के छेद में अपना जीभ डाल दिए। हए मुझे तो एकदम करंट से लगा मैं सिसक गई।

पापा मेरी चूत को चाटने लगे थे। कुछ देर चुट चाटने के बाद वो मेरी ब्रा को खोल दिया और अपने कपरे भी उतर दिए। अब वो मेरी चुचियो को दबा दबा के चूस रहे थे। मुझे बहोत मज़ा आने लगा था। ऐसा तो मेरा बॉयफ्रैंड भी नही करता था। मैं बोली पापा अब डाल भी दो अब बर्दाश्त नही हो रहा है। पापा बोले इतनी जल्दी है तुम्हे तो ले कर ही देता हूँ।

वो मेरे चूत के पास गए अपना लण्ड मेरी चूत पे रख के धका दे दिए। लण्ड आधा ही अंदर गया और मुझे दर्द होने लगा क्योंकि पापा का लण्ड बहोत मोटा था। इसलिए जब पापा मम्मी की चुदाई करते थे तो मम्मी की आआह आआह की आवाज आती थी।

वो अब दूसरा धका दिए और लण्ड पूरा अंदर चला गया। मैं दर्द से कराह उठी लेकिन मेरे पापा निर्दयी हो गए थे। वो बिना रुके मेरी चूत में धके देते रहे मैं बस आआह आआह पापा आराम से दर्द हो रहा पापा कर रही थी।

पापा के धके मेरी नाभि तक महसूस हो रहे थे।मैं तो पूरी हिल सी जा रही थी। वी मेरी चुचियो को पकड़ लिए और कस के चोद रहे थे। कुछ देर में मैं तो निधल हो गई लेकिन पापा लगे हुए थे।

उसके 5मिनट बाद एकदम स्पीड बढ़ गयी। मैं जोर जोर आआह आआह ओह्ह पापा फ़क पापा करने लगी। तब वो जब झरने वाले थे तो लण्ड निकला गया। वो सब वीर्य नीचे गिरा दिए।

पापा मेरे बगल के सो गए थे। मैं उनको हग कर ली और वो भी मुझे कस के पकड़ लिए। पापा बोले कि मैंने तो तेरी सील नही टोरी है। इससे पहले किस्से चुद चुकी है। मैं बोल दी कि मेरा बॉयफ्रेंड है उसके साथ सेक्स कर चुकी हूँ। अब मुझे पापा से कोई डर नही था। वो बोले मेरा लण्ड लेके कैसा लगा। मैं बोली कि मेरे बॉयफ्रैंड से बहोत ज्यादा मज़ा दिया अपने, तो वो बोले तो फिर से हो गए।

अब मैं उनके ऊपर आके आप अपना टैलेंट दिखा रही थी। उन्हें पूरी मज़े दे रही थी। वो बोले तुम तो अपनी मम्मी से भी अच्छा चुदती हो। मैं बोली कि आज आप बेटी चोद बन गए हो। मैं आज से आपके साथ ही सेक्स करूँगी। फिर हमने खाना ऑर्डर किया खाना खये और फिर सेक्स पूरी रात सेक्स किये।

हम दोनों उस रात पूरे घर मे घूम घूम के सेक्स कर रहे थे। कभी डिंनिंग रूम में तो कभी किचन में तो कभी बाथरूम में कभी उनकी गोद मे तो कभी जमीन पे लेट के सेक्स कर रहे थे। ये मेरी और मेरी पापा की सबसे मजेदार सेक्स रही है।

Some Hot Antarvasna Free Sex Kahani

Leave a Comment