लॉकडाउन में गर्लफ्रेंड की चुदाई

Girlfriend sex story – हेल्लो दोस्तो,मेरा नाम सुनील है और आज मैं आप सबके एक मज़ेरदार सेक्स की कहानी पेश कर रहा हूँ। पढ़ के बताना की ये कहानी कैसी लगी आप सब को। ये कहानी है लॉकडाउन कि समय की जब पूरे देश भर में लॉकडाउन हो गया था। तब मैंने अपनी गर्लफ्रैंड को खेत में ले जाके चोदा।

मेरी एक गर्लफ्रैंड है,जिसका नाम सरिता है। वो मेरी बस नाम की गर्लफ्रैंड थी मतलब की मैं उसे बस चोदने के अपने साथ रखा था।मैं उसे ऐश मौज करवाया करता और वो मुझे चूत देती थी। वो अक्सर कॉलेज के लिए घर से निकलती और मेरे रूम पे आ जाती थी। लेकिन इस लॉकडाउन होने के कारण उसका घर से निकलना बंद हो गया था।

अब मुझे इस लॉकडाउन मे चूत नही मिल रहा था और मुझे चोदने की बहोत ज्यादा तलब मची हुई थी। मैंने उसे बुलाया लेकिन वो आने से माना कर दी थी। तब मैंने एक उपाय खोजा जब चूत ही मरना है तो कही मार सकते है। उसके घर के पीछे मकई का बहोत बड़ा खेत है। मैंने उसे बोला कि तुम ऐसा करना दिन के समय सबसे छुप छिपा के थोरे देर के लिए खेत मे आ जाना मुझे तुम्हे कुछ देना है।

मै उसके कोई गिफ्ट नही ले सकता था बस मैं उसके लिए चॉकलेट ले लिए। मैं भी जैसे तैसे कर के उसके घर के पीछे पाउच गया। मैंने उसे पहले कह दिया था कि तुम स्कर्ट और टीशर्ट पहन के आना और अंदर ब्रा पेंटी मत पहना। क्योंकि मुझे जो भी करना था जल्दी में करना था।
कुछ देर बाद वो भी खेत मे चुप के आ गयी।

मैं उसे खेत के बीच मे ले गया। मैंने कुछ पेड़ को गिरा दिया और अपना गमछा बिछा दिया। उसे चॉकलेट दिया और उसे किस करने लगा। वो मेरे साथ किश करने में लीन हो गयी थी। मैंने उसे जमीन पे लिटा दिया और उनके चुचियो को मसलने लगा। वो धीरे धीरे गर्म होने लगी थी।। लेकिन मुझे माना कर थी। ये सब यहाँ नही करो नही तो कोई आ जयेगा। बहोत दिकत ही जयेगी मुझे बहोत डर लग रहा।

लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी क्योंकि मेरे अंदर उसे चोदने की तलब मची हुई थी। मैंने कुछ उसे बोलने नही दिया और उसे चूमने लगा। उसकी टीशर्ट को ऊपर कर दिया। उसके चुचियो को चुसने लगा। मैं भी वहाँ हाफ पैंट में गया था। जिसे पैंट खोलने में कोउ दिक्कत या समय न लगें। क्योंकि दर तो मुझे भी लग रहा था। कि कोई आ गया तो बहोत बवाल हो जयगे। लेकिन जब इंसान के अंदर की अन्तर्वासना जगी हो तो कोई डर नही रहता है। बस उसे चूत चोदने की तलब जगी होती है।

मैंने अपना पैंट निचे किया और उसके स्कर्ट को ऊपर कर दिया। एक ही झटके लण्ड अंदर डाल दिया। उसके मुह से हल्की सी आह निकली लेकिन मैंने उसका मुह बन्द कर दिया। मैं पहले से चोद के उसके चूत को ढीला कर चुका था। इसलिए उसे उतना दिकत नही हुआ। मैं एकदम तेजी से चोदे जा रहा था। मेरे अन्दर का सेर जाग उठा था और मैं जंगली की तरह उसे चोद रहा था। कुछ देर में वो झर गयी और मैं भी झर चुका था। मैंने उसकी चूत में नही गिराया क्योंकि अभी उसे दवा नही दे सकता था।

वो बोली कि अब रहने दो, लेकिन मेरा मन नही भरा था। कुछ देर मैं उसकी चुचियो के साथ खेल रहा था। थोरे देर में मेरा लण्ड फिर से खड़ा हो गया। अब मैंने उसकी टांगो को फैला दिया। फिर से उसकी जोर दर चुदाई करने लगा। ऐसे खेत मे चोदने का मज़ा ही कुछ था। अंदर ही अंदर डर भी था लेकिन जोश ठंडा नही हो रहा था। दुबारा उसकी दमदार चुदाई के बाद मैंने फिर से झरने वाला था। तो मैं लण्ड निकल के उसके मुह में दे दिया। वो रंडी के तरह चुसने लगी और मैंने उसके में सब पानी छोर दिया।

हमने जल्दी जल्दी कपड़ा पहना और दोनों अपने अपने घर आ गए। उस दिन के बाद से हम 3 बार खेत म चुदाई का मज़ा ले चुके है।

दोस्तों अगर आपको ये मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई पसंद आयी तो हमे एक कमेंट करके जरूर बताये. दोस्तों अगर आपको ये लॉकडाउन सेक्स स्टोरी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के बिच शेयर करना न भूले.

ऐसी ही कुछ लॉकडाउन में चुदाई और सेक्स स्टोरी

Leave a Comment