स्कूल की टीचर के साथ किया सेक्स

हेल्लो दोस्तो मेरा नाम विवेक है। मेरी उम्र 21 साल है ,ये कहानी जो मै आपको बताने जा रहा हु वो 4 साल पुरानी बात है। मैंने किस तरह पहली बार अपनी स्कूल की मैडम के साथ सेक्स किया। मै गुजरात के सूरत सहर का रहने वाला हु और वही के सेंट्रल स्कूल में पढ़ता था। ये बात तब की है जब मै उस स्कूल में 10कक्षा मे था। हमरा एक फ्रेंड्स का ग्रुप था जिसमे हम हसी मज़ाक किया करते थे। 10क्लास के बायोलॉजी के चैप्टर में रिप्रोडक्शन की पढ़ाई थी। लेकिन उससे पहले ही हम सेक्स के बारे मे जनते थे। हम दोस्तो कई बार साथ मे सेक्स मूवी भी देखा करते थे। यह हिंदी सेक्स कहानी आप bhabikichudayi.onlline पर पढ़ रहे है

हमारे स्कूल मे साइंस की टीचर एक मैडम थी, जिनका नाम संध्या था।उनकी उम्र 32साल होगी लेकिन वो दिखने में 25-26साल की लगती थी। उसका फिगर बहोत मस्त था गोल गोल बारे बारे बूब्स, पतली कमर और उभरी हुई गांड। कुल मिला के मैडम इकदम माल थी। उनके पिछे बहोत सारे टीचर लगे हु थे लेकिन उनकी सादी हो चुकी तो वो किसी को भाव नही देती थी। एक बात थी वो पढ़ने में भी बहोत अछि थी, वो जो भी पढ़ाती थी हमे एक बार मे समझ आ जाता था।

लेकिन मैं औए मेरे कुछ दोस्त पढ़ने में कमजोर थे तो जल्दी समझ नही आता था। तो हमने सोचा क्यों न हम मैडम को बोले हमे ट्यूशन दे देने के लिए। हम पांच दोस्त मिल के मैडम के पास गए और बोले मैडम हमे क्लास में इतने बच्चों के बीच ठीक से समझ नही आता है। क्या आप हमें ट्यूशन दे सकती है। वो बोली ठीक है अगर तुम सब मेरे घर आ सकते हो शाम को तब। हमलोग ने हा कर दी, मैडम ने कहा ठीक है कल से पांच बजे आ जाया करना।

कल होके हम पांच बजे जाने लगे। उनके घर मे एक कमरा था जिसमे एओ हमे पढ़ती थी। मेरे दोस्त बहोत कमीने टाइप के थे वे हमेसा मैडम के बारे में कहते थे। मैडम तो बहोत मस्त मैं काश कभी छोड़ने को दे।ऐसे ही पढ़ते पढ़ते कुछ दिन निकल गए। मैडम बहोत अच्छा पढ़ाती थी और हमे मन भी लगता था। मैं हमेसा मैडम की बगल में बैठा करता था। और उन्हें देखता रहता था। एकदिन गलती से उनसे पेन गिर गया तो उतने के लिए नीचे जुकी साथ मे मै भी जुका मेरी नज़र उनके बूब्स पे चली गयी। उन्होंने ने सूट के अंदर ब्लैक कलर की ब्रा पहन रखी थी। मेरे तो देखते है लण्ड खरा हो गया मै जौसे तैसे अपने लण्ड को सांत किया।और घर आके मैडम के बारे में सोच के मूठ मारा। अब धीरे धीरे मै मैडम की ओर आकर्षित होता जा रहा था। वो मुझे अछि लगने लगी थी।

एक दिन ऐसा हुआ कि मै अकेला मैडम के यहाँ गया। मेरे सब दोस्त किसी न किसी कारण से उस दिन नहीं आये थे। मै अंदर गया तो देखा घर मे कोई नही है तो मैंने मैडम को आवाज लगई। अन्दर से मैडम आयी और बोली तुम रूम मे बैठो मै अति हूँ। कुछ देर में मैडम अंदर आयी और बोली और सब कहा गए तुम्हरे दोस्त क्यों नहीं आये आज, मै बोला पता नही मै तो अकेले आया हु। मैंने बोला मैडम आज घर मे कोई नही दिख रहा है। तो उन्होंने बताया कि मेरे हस्बैंड अपनी माँ को दिखाने डॉक्टर के पास लेके गए है।

उसके बाद मैडम ने कहा तो बताओ आज तुम्हे क्या बता दु। तो मेरे मन मे बदमासी आयी क्यों न आज मैडम के साथ मज़ा लिया जये आज कोई है भी नही। नाही घर मे कोई है मौका अच्छा है। मैंने मैडम से कहा मैडम उस दिन को कहा आपने उस दिन स्कूल में ह्यूमन रिप्रोडक्शन बताया लेकिन मैं समझ नही पाया,क्या दोबारा आप मुझे समझा सकती हो। उन्होंने कहा है क्यों नही जरूर किताब निकालो, मैंने कहा मुझे किताब की भासा समझ नही आती आप कुछ अलग बताए जिससे मैं समझ जाऊ।

उन्होंने कहा ठीक है रिप्रोडक्शन के लिए एक मेल और एक फीमेल की जरूरत होती है। मेल के पास रिप्रोडक्टिव पार्ट होता है। मैंने कहा मैडम ये रिप्रोडक्टिव पार्ट क्या होता है। मुझे तो सब कुछ अछे से पता था लेकिन मैं जान भूज के पूछ रहा था। मैडम हँसने लगी औऱ बोली वो जो तुम्हरे पैंट के अन्दर है उसे ही रिप्रोडक्टिव पार्ट कहते है।मैंने कहा इससे तो सुसु करते है। मैडम ने कहा हा उसे ही पेनिस कहते है। मैडम हिन्दी मे क्या कहते है। मैडम मुस्कुरा दी और बोली क्या विवेक तुम इतने। बड़े हो गए लेकिन तुम्हें कुछ नही पता है।

फिर मैडम ने कहा उसे लण्ड कहते है। उसके अन्दर से स्पर्म निकलता है जो फीमेल रिप्रोडक्टिव पार्ट में जाता है। मैंने फिर कहा अब फीमेल पार्ट कोनसा होता है। मैडम ने कहा जिससे लड़किया सुसु करती है। मैंने कहा वो कैसा होता है , क्या आपके पास वो है । तो वो बोली वो सबके पास होता है पागल। मैं बोला मैडम दिखाओ न वो कैसे होता है। मैडम सीरियस हो गयी और बोली पागल मैं वो कैसे दिखा सकती हूं। तुम आगे सुनो जब पेनिस महिला के ओवरी में जाता है और वो स्पर्म रिलीज करता है। फिर मैंने ने कहा ओवरी को क्या कहते है। तो मैडम ने कहा लगता है, तुम्हे सब खुल के बताना होगा। मैंने बोला है मैडम एकदम खुल के और खोल के बताओ।यह हिंदी सेक्स कहानी आप bhabikichudayi.onlline पर पढ़ रहे है

मैडम गुस्से से बोली मतलब कहा है तुम्हरा, मैडम मेरा मतलब हैकि सब अचे से बताओ जिससे मैं सब समझ जाऊ। उन्होंने ने कहा ओवरी को हिन्दी मे चूत कहते है। मै जिद करने लगा मैडम प्लीज् दिखाओ न चूत कैसा होता है। बहोत जिद के बाद वो हा कह दी। यहाँ मैं तुम्हे नही दिख सकती हूँ तुम मेरे साथ रूम मे चलो। मैं उनके साथ चला गया फिर मैडम ने कहा तुम बैठ जाओ उसके बाद मैडम ने सलवार खोल के नीचे कर दी।और लो देख लो इसे ही चूत कहते है और तुम ये बात किसो को कहना नही।

मैंने बोल दिया हा मैडम किसी को नही बोलूंगा ।लेकिन मैडम यहाँ इतने बाल है और ये लण्ड अन्दर कैसे जयेगा। यहाँ तो इतना छोटा से छेद है और ये लण्ड इतना मोटा है। अचानक मैडम ने कहा अच्छा तुम्हरा लण्ड भी मोटा है, तुमने तो मेरी चूत देख ली अपना लण्ड भी दिखाओ। मैंने झट से अपनी जीप खोली और लण्ड निकल दिया। मैंने कहा मैडम ये इतना बड़ा कैसे हो गया, वो बोली तुम्हरा लण्ड उतेजित हो रहा है। उन्होंने मेरा लण्ड पकड़ लिया और बोला तुम्हरा लण्ड तो बहोत तगड़ा है। ये तो एकदम रिप्रोडक्शन के लिए तैयार है।

वो बोली क्या तुम आगे भी सीखना चाहोगे। मेरे मन मेटो लडू फुट रहा था।मैंने ख़ुशी ख़ुशी हा कह दिया और बोला आगे कैसे होता है। तो उन्होंने मेरी पैंट उत्तर दिया। अपनी भी सलवार उतार दिया। और मेरे लण्ड को पकड़ के हिलाने लगी। उसके बाद वो बेड पे लेट गयी और बोली इधर आओ,अपने लण्ड को मेरी चूत में डालो। मैंने अनजान बन के बोला क्या ये इसके अंदर जयेगा वो बोली तुम कोसिस तो करो।जरूर जयेगा। फिर मैं उनके ऊपर चढ़ गया, मैडम ने मुझे अपनी ओर कीच कर मुझे किश करने लगी। मैं भी उनका साथ देने लगा उन्होंने मेरा शर्ट खोल दिया। मै किश करते करते उनके गर्दन पे आ गया। और उन्हें किश करने लगा मै उन्हें उतेजीत करने लगा। फिर मै उनका बूब्स दबनाने लगा।

अब मैडम भी पूरे जोश में आ गयी थी। उनका सूट ऊपर किया और ब्रा भी हटा दिया और उनके सॉफ्ट सॉफ्ट बूब्स को चूसने लगा। वो अब एकदम गर्म हो गई और कहने लगी विवेक अब अंदर डाल भी दो। फिर मैं उनकी चूत पे गया और अपने खरे लण्ड को उनकी चूत मे पेल दिया। उनकी चूत थोड़ी सी टाइट थी क्योंकि उनका पति उन्हें ज्यादा नही चोदता था। ये बात मैडम ने मुझे बाद में बताई। मेरे लण्ड डालते है उनके मुह से आह निकली। लेकिन उन्हें मज़ा आ रहा था क्योंकि वो बहोत दिनों बाद चुद रही थी। मैं भी पूरे मज़े में चोदे जा रहा था।करीब 30मिनट की चुदाई के बाद मैं उनकी चूत में अपना माल गिरा दिया। यह हिंदी सेक्स कहानी आप bhabikichudayi.onlline पर पढ़ रहे है.

थोरे देर हम ऐसे है लेते रहे उसके बाद , मैडम ने कहा तुम अब अपने कपड़े पहन लो मेरे पति अब आ सकते है। वैसे तुम्हे सब आता है और तुम अनजान बन रहे थे तो मैं मुस्कुरा दिया। बरे कमीने हो तुम फिर मैडम ने मुझे किश किया। उकसे बाद हमने अपना कपड़ा पहन लिया।मैंने बोला अब दुबारा का मौका मिलेगा वो बहोत बदमास हो तुम विवेक।वो बोली जल्द ही मिलेगा अभी तुम जाओ उसके बाद मैं घर आ गया। तो मिलते है दोस्तो अगले स्टोरी में जिसमे मैंने और मेरे दोस्त ने मिल के मैडम की चुदाई की।

ऐसी ही कुछ और कहानियाँ

Leave a Comment