घर मे ही हो गया चूत का जुगाड़, माँ की चुदाई

Maa Ki Chudai – हेल्लो दोस्तो मेरा नाम प्रभात है, मैं आज अपनी माँ की चुदाई की कहानी आप सभी को बताने वाला हूँ। मेरी उम्र अभी 20 की है लेकिन ये कहानी कुछ साल पहले की है जब मैं 10 में पढ़ता था। मैं उस वक़्त जवान होने की दहलीज पे था। मेरे सभी दोस्त सेक्स की बाते किया करते थे। हमलोग क्लास में भी सेक्स की वीडियो देखा करते थे।

मैं रोज रात को सेक्स स्टोरी भी पढ़ा करता था और अभी भी पढ़ता आ रहा हूँ। मेरे कुछ दोस्त ने तो सेक्स का मज़ा भी ले लिया था। अब मेरा भी मन सेक्स करने को होने लगा था। लेकिन मैं उतना स्मार्ट भी नही था कि गर्लफ्रैंड बना लू। तो बस मुठ मार के ही संतुष्ट हो रहा था।

अब मैं थोड़ा अपनी फैमिली के बारे में बता दु। मेरे पापा की सोने की दुकान है मेरा एकं छोटा भाई है। मेरी एक बहोत प्यारी माँ है, जिनकी उम्र 38 साल है। वो एक सेक्सी और बहोत सुन्दर महीला है। मेरा ये ख्याल तबसे आया जब मैंने उन्के साथ पहली बार सेक्स किया। मेरी मम्मी एकदम स्लिम फिट और बहोत सेक्सी है। उनकी चुचिया 34की साइज की है।

एक दिन की बात है मैं घर पे ही था मेरा भाई स्कूल गया हुआ था। पापा मेरे दुकान पे थे मेरी मम्मी अकेली थी। मैं घर मे था छत के सीधी पे जाके अपने दोस्त को कॉल कर के बोल रहा था कि भाई कोई रंडी का जुगाड़ कर दे जो पैसा लगेगा मैं दूंगा। तभी पीछे से मेरी मम्मी आ गयी। मम्मी ने मेरी बात सुन ली थी मैं बहोत डर गया था। मम्मी बोली किस्से बात कर रहे हो मैं बोला कि वो एक दोस्त ने नोट्स की बात कर रहा था।

मम्मी बोली जुठ नही बोलो मैंने तुम्हरी बात सुन ली है। तुम मेरे होते हुए किसी रंडी के पास जाओगे। मैं उनकी बात पे चकित हो गया कि मम्मी क्या बोल रही हैं। वो बोली कि पहले तुम मेरे साथ रूम में चलो। मैं और मम्मी रूम में गए मम्मी बोली देखु पहले तेरा समान सेक्स करने लायक हुआ है या नही।

मैंने कुछ नही बोला मम्मी ने मेरी पैंट में से मेरा लण्ड निकाल लिया। उनके हाथ लगाते ही मेरे लण्ड में करंट दौर गया और मेरा लण्ड खड़ा हो गया था। मेरे लण्ड को मम्मी पकड़ी हुई थी। मेरा लण्ड उफान मार रहा था उनके चुने से वो एकदम कर्क हो उठा था।

मम्मी बोली वाह तेरा लण्ड तेरे पापा से भी बड़ा है। तू तो सेक्स करने के लायक हो गया है बस इसे थोड़ा और मोटा होना बाकी है। मम्मी बोली जब तू किसी रंडी के पास जा रहा था उससे अच्छा तू मुझे चोद ले। मैं मम्मी की बात सुन के डंग रह गया। वो बोली कि मैं नही चाहती कि मेरा बेटा रंडीबाज बने।

मम्मी मेरा लण्ड पकर के हिला रही थी। मुझे बहोत मज़ा आने लगा था मैंने मम्मी को किस कर लिया। अब हम दोनों किश करने में लीन हो गए थे। मम्मी ने मेरा टीशर्ट खोल दिया और मेरी बॉडी को किस करने लगी थी। मम्मी ऐसा कर रही थी जैसे काफी दिनों के कामवासना में डूबी हुई हो। मैंने उनकी नएटी को ऊपर कर दिया था।

मम्मी सफेद रंग की ब्रा में थी। मैं उनकी चुचियो को दबाने लगा था। अब मैंने उनकी नएटी खोल दी और वो अब पैंटी और ब्रा में थी। मैंने भी आप अपना पैंट को के पूरा नंगा हो गया था। मैं आज अपने रिश्ते को भूल के बस अपनी हवस मिटाने में लगा हुआ था। मैं उनकी नाभि में चूमता हुआ नीचे गया और उनकी पैंटी को खोल दिया। उनकी चूत पे बहोत बाल थी।
मैंने उनकी चूत को रगड़ दिया मम्मी सिहर गयी।

फिर मम्मी मुझे बेड पे लेता दी और मेरा लण्ड मुह में ली। वो मेरे लण्ड को चुसने लगी थी। मेरा लण्ड लेके अंदर बाहर मुह के कर रही थी। मुझे तो बहोत मज़ा आ रहा था मैं भूल गया था कि मेरी माँ मेरा लण्ड चूस रही हैं। वो बहोत जोरजोर से मेरा लण्ड चूसे जा रही थीं मुझसे कंट्रोल नही और मैंने अपना रस उनकी मुह म छोड़ दिया। वो सब बगल म थूक दी बोली कोई बात नही होता है ऐसा।

मेरा लण्ड जूक गया था मम्मी मेरे साथ नंगी सोई थी तो मैं उनकी चुचियो को मुह म लेके चूस रहा था। मम्मी मेरा लण्ड लेके हिला रही थी और थोरे ही देर में लण्ड खड़ा हो गया था। मम्मी बोली अब चूसता ही रहेगा या करोगे भी, मैं अब चोदने को तैयार हो गया था। मम्मी नीचे लेती थी मैं उनके ऊपर लण्ड उनकी चूत में लगा के एक बार मे लण्ड अंदर घुसेड़ दिया।

मुझे तो ऐसा लग जैसे कि लण्ड किसी जन्नत में चला गया हो। मैं आगे पीछे करने लगा। मेरी अंदर जितनी हिम्मत थी उतनी ताकत से उनको चोदे जा रहा था। मम्मी को चुचिया जोर से हिल रही थी। मैं उनके ऊपर लेट के चोदे जा रहा था। कुछ देर करने के बाद लगा कि मैं बहने वाला हु तो मम्मी बोली अंदर ही गिरा दो कोई दिक्कत नही है।

ऐसा ही हुआ मैं और मम्मी साथ मे। झर गए थे। मैं हफ्ते हुए उनके ऊपर लेट गया था। उसके बाद तो मैं बारी बारी से उनकी पूरी घर मे चुदाई की, जैसा जैसा मैंने पोर्न वीडियो में देखा था वो सब पोज़ को ट्राय किया। मैंने उनको चोद के खुश कर दिया था। मम्मी ने मेरी अन्तर्वासना को मिटाया था अब हम दोनों रोजना सेक्स करने लगे थे। जब भी पापा नही होते थे मैं मम्मी की चूत मार लेता था। मेरे घर मे ही चूत का जुगाड़ हो गया था।

Some New Sex Story In Hindi

Leave a Comment