लॉकडौन में दोस्त की गर्लफ्रैंड को चोद के संतुष्ट किया

Lockdown Mein Chudai – हेलो दोस्तो, मैं सभी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पढ़ने वालों को नमस्कार करता हूँ। मैं भी रोजाना अन्तर्वासना कहानियों का पाठक हूँ। मेरे भी मन मे बहोत दिनों से एक कहानी लिखने की आस थी लेकिन मुझे कोई मज़ेदार कहानी लिखने का मन था। वैसे तो मैं अपने गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स कर चुका था लेकिन उसमें वो मज़ा नही था।

लेकिन इस कोरोना काल मे मुझे अपने दोस्त की गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स का मौका भी मिला और कहानी लिखने का एक मज़ेदार सेक्स की भी हो गयी। ये कहानी मेरे दोस्त की एक गर्लफ्रैंड के साथ लॉकडौन मे की गई सेक्स की कहानी है। जिसमे मैंने अपनी कामवासना को दोस्त की गर्लफ्रैंड को चोद के सांत किया साथ मे उसकी गर्लफ्रैंड को भी संतुष्ट किया।

तो अब कहानी सुरु करने से पहले मैं कहानी के सभी लोगो के बारे में बता देता हूँ। ये कहानी बिल्कुल सच्ची है और इसे पढ़ के आप लोग को भी सेक्स करने की इच्छा जग जयेगी।

तो दोस्तो मेरा नाम है, सुजीत है। मैं अभी 19 साल का हूँ मेरा एक दोस्त है राहुल। राहुल की भी और मेरी भी गर्लफ्रैंड थी हम सब एक ही कॉलेज में पढ़ते थे। हम लोग अपने अपने पार्टनर के साथ करते रहते थे। अब राहुल की गर्लफ्रैंड मेरे घर से 2 घर बाद रहती थी। राहुल मेरे घर ही आ आके उसे पटा लिया था।

अब हुआ ये की कोरोना वायरस फैलने की वजह से पूरे देश मे लॉकडौन हो गया। हमरा घर से निकलना बंद हो गया था। साथ मे हमारे सेक्स पे भी पाबंधी लग गया था। हम सब का एक दोस्त था रवि उसी के घर जाके हमलोग सेक्स किया करते थे। उसके घर उसके मम्मी पापा नही होते थे। दोनो जॉब पे रहते हम सब वहा खूब मज़े करते थे।

अब हम घर पे ही बोर होने लगे थे। एक दिन मेरी बात राहुल की गर्लफ्रैंड सोनी से हो रही थीं। हम लोग अपने बीते दिन के बारे में बात कर रहे थे। हम बात करते हुए सेक्स की बात पे आ गए। वो बोली कि यार राहुल हमेसा मेरे साथ करता था। अब इते दिन हो गए बहोत मन करता है वही बात मैंने भी उसे कहा मुझे भी बहोत मन है।

हमने ऐसा कर के 1 महीने काट लिया लेकिन अब बर्दाश्त नही हो रहा था। मैं तो मूठ मार के थक चुका था अब मुझे चूत चाहिए था। एक दिन सोनी ने अपने स्टेटस में बहोत सेक्सी फ़ोटो डाली मेरे उसे देख मन मोहित हो गया। मैंने उसकी फोटो को देख के मूठ भी मार ली।

अब मैंने सोचा क्यों न सेक्स करने के लिए सोनी को राजी की जये। ये तो मेरे घर के बगल में है कोई न कोई उपाय मिल सकता है। उसी दिन जब मैं उसे बात कर रहा था तो वो मुझे बोल रही थी कि अगर राहुल नजदीक रहता तो उसे रात को अपने घर बुला लेती। मैंने उसी वक़्त कहा कि अब राहुल तो नही आ सकता है मुझे ही बुला लो। वो बोली बोल क्या बोल रहे हो।

मैंने कहा सही तो बोल रहा हूँ। अब राहुल आ नही सकता और तुम्हे भी सेक्स करने का मन है और मुझे भी, तो दोनो एक दूसरे की कमी को पुरि कर देते है। वो कुछ देर के बाद बोली कि क्या तुम आ सकते हो। मैंने बोला कब और कैसे ये तो बताओ। फिर वो बोली कि रात को जब मेरे घर सो जयेंगे तो तुम पीछे के गेट से सीधा शिड़ी से ऊपर आ जाना।

अब हम दोनों ने प्लान बना लिया कि अब तो सेक्स कर के रहेंगे। मैं रात होने का इंतज़र करने लगा था। जब 12 बज गए तो मेरे घर मे सब सो गए थे। मैं उस दिन जान के बाहर वाले कमरे में सोया था कि जाने में दिक्कत न हो। कुछ देर बाद सोनी का कॉल आया वो बोली आ जाओ। मैं छुप छुप के उसके घर के पीछे पाउच गया। वो पहले से अपने घर के पीछे के गेट खोल के रखी हुई थी।

मैं सीधा ऊपर उसके कमरे में चला गया। वो नाईट सूट में थी। वो उसमे भी बहोत खूबसूरत लग रही थी। मैं उसके रूम में जाते ही उसके गले लग गया।हम दोनों एक दूसरे से लिप्त गए थे। मैं सोनी को किस करने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी थी। दोनो के अंदर सेक्स की आग बरबड़ लगी हुई थी। मैं उसे कस के पकर के किस किया जा रहा था और वो धीरे धीरे पीछे जा रही थी।

मैं उसे दीवाल में लगा दिया और दोनो के होंठ एक दूसरे को चूमे जा रहे थे। मैं अब उसको चूमता हुआ उसकी गर्दन पे आ गया वो मदहोश हो रही थी। मेरा हाथ उसकी चुचियो को दबोच लिया था। उसकी चुचिया बस 28 की साइज की थी उसकी पतली कमर और कमसिन जवानी मेरा लण्ड को खड़ा कर चुकी थी।

मैं किस करता हुआ नीचे गया और उसकी लोअर को निचे कीच दिया। वो अंदर भूरे रंग की पैंटी में थी। उंसने लोअर को निकाल दिया और फिर मेरा टीशर्ट खोल दी। वो अब मेरे सरीर को चूम रही थी वो चूमते हुए मेरे सीने पे काट भी ली थी। मैं अपना हाथ उसकी चुतरो को पकड़ के दबा रहा था। अब मैंने उसे चुतर के सहारे उठा लिया और उसे बेड पे ले जाके रख दिया।

मैं अब उसकी टांगो को चूमता हुआ उसकी चूत के पास गया और पानी से निकले मछली की तरह चटपट कर रही थी। वो चुदने को बेताब हो रही थी। मैंने अब उसकी टॉप को खोल दिया और अपना पैंट भी उतार दिया।वो ब्रा पैंटी में बहोत हॉट दिख रही थी। मैंने उसकी ब्रा को खोला और फिर पैंटी भी उतार दिया। हम दोनों अब पूरे नंगे हो गए थे।

मैं अब सोनी के ऊपर आ गया और उसकी चूत में लण्ड धकेल दिया। सोनी अपना मुह बन्द कर ली उसकी आँखें बड़े बड़े हो गए थे। काफी दिनों के बाद जो लण्ड ले रही तो उसे थोड़ा दिक्कत तो हुआ था। लेकिन मेरे कुछ झटकों के बाद बाद उसे भी मज़ा आने लगा था। मैं आज अपनी काफी दिनों कसर मैं पूरी कर रहा था।।

दोनो सेक्स का भरपूर मज़ा ले रहे थे। मैं उसे अलग अलग पोज़ में चोद रहा था। सोनी मेरी चुदाई से खुश हो गयी थी। मैंने उसे संतुष्ट कर दिया था। मेरे अंदर की कामवासना सांत हो चुकी थी। उस रात हम 5 बार सेक्स किये। हमे सेक्स करते हुए 12 से 3 बज गए थे। उसके बाद मैं उसे छोड़ के अपने घर चुपके से आ गया। अब मैं हर सफ्ताह उसे चोदने चला जाता था। हम दोनों लॉकडौन में भी चुदाई का मज़ा ले रहे थे।

New Lockdown Sex Story In Hindi

Leave a Comment